जॉब और बिजनेस में क्या अंतर है ? 20 Difference between Job and Business in Hindi

20 Difference Between Job and Business in hindi नौकरी जॉब और बिजनेस में क्या अंतर है ? जॉब और बिजनेस में क्या ज्यादा अच्छा होता है ? Job vs Business in hindi नौकरी करें या बिजनेस करें

देखिए बात चाहे आपकी हो या मेरी 12th और कॉलेज पास करते करते प्रत्येक व्यक्ति को रुपिये पैसे कमाने की चिंता होने लगती है और कुछ सपने होते हैं जिसके लिए वह कोई बढ़िया सा जॉब या बिजनेस करने की सोचता है पर मन में यह दुविधा रहती है कि कोई जॉब (नौकरी) करें या फिर बिजनेस और फिर धीरे धीरे कुछ सहपाठी govt job लग जाते हैं कुछ प्राइवेट नौकरी करने लगते हैं और कुछ साथी बिजनेस करने का निर्णय लेते हैं

लेकिन क्या आपको पता है जॉब और बिजनेस में क्या अंतर होता है ? नौकरी अच्छी होती है या फिर बिजनेस ज्यादा तथा नौकरी और बिजनेस में क्या करना चाहिए तो चलिए इस दुविधा को दूर करने के लिए सबसे पहले इनकी परिभाषा समझ लेते हैं और अच्छे से जान लेते हैं कि नौकरी क्या होती ? बिजनेस क्या होता है ? नौकरी में क्या करना होता है ? बिजनेस में क्या करना होता है आखिर नौकरी और बिजनेस एक दूसरे से अलग कैसे होते हैं ? नौकरी और बिजनेस में ज्यादा जोखिम किसमें होता है ? और क्या नौकरी करके सपने पूरे किए जा सकते हैं

जॉब क्या होता है

जॉब : – नौकरी या जॉब पैसा कमाने का एक ऐसा तरीका होता है जिसमें आप किसी व्यक्ति या संस्था को अपना समय देते हैं और उनके लिए उस निश्चित समय मे आप उनके लिए कुछ काम करते हैं और बदले में वे आपको पैसे प्रदान करते हैं जिससे आपके घर परिवार का खर्च चलता है यानी जीविका पार्जन होता है

नौकरी सरकारी और प्राइवेट दो प्रकार की होती है

जब आप सरकार के लिए काम करते हैं और सरकार से पैसे प्राप्त करते हैं तो यह सरकारी नौकरी होती है यानी Govt Job होता है और

जब आप किसी निजी व्यक्ति या निजी संस्था के लिए काम करते हैं और बदले में उनसे पैसे प्राप्त करते हैं तो यह प्राइवेट नौकरी यानी Private Job होता है

सेल्फ एम्प्लॉयड क्या होता है

सेल्फ एम्प्लॉयड – इस वर्ग में वे व्यक्ति आते हैं जो अपना खुद का कोई काम करके पैसे कमाते हैं इसमें किसी अन्य व्यक्ति या संस्थान के लिए काम नहीं करना पड़ता बल्कि वह अपनी मर्जी का मालिक खुद होता है

जैसे यदि आप डॉक्टर हैं और खुद की क्लीनिक कर लेते हैं या खुद की कोई सामान बेचने की दुकान आदि कर लेते हैं तो आप सेल्फ एम्प्लॉयड वर्ग में आते हैं

इसमे आपको खुद काम करना पड़ता है और अपना समय भी देना होता है लेकिन यह बिजनेस नही है

बिजनेस क्या होता है

बिजनेस – बिजनेस पैसा कमाने का एक ऐसा जरिया होता है जिसमें आपको खुद काम नही करना पड़ता बल्कि करवाना होता है आपकी अनुपस्थिति में भी आपका काम चलता रहता है और खास बात जब आप सो रहे होते हैं तब भी पैसे कमा रहे होते हैं

बिजनेस में पूर्णरुप से वह शक्ति होती है जो आपका प्रत्येक आर्थिक सपना पूरा कर सकता है

जॉब और बिजनेस में क्या अंतर है ? 20 Difference Between Job and Business

जॉब और बिजनेस में क्या अंतर है

देखिये हर एक चीज के दो पहलू होते हैं यानी कोई भी ऐसी चीज नही होती जिसके बस सिर्फ फायदे ही हो और कोई भी ऐसी चीज नही होती जिसके बस नुकसान ही हो यानी हर चीज के फायदे और नुकसान दोनों ही एक लिमिट में होते हैं

इसी प्रकार Job यानी नौकरी में कुछ ऐसे फायदे हैं जो Business में नही हैं और इसी प्रकार बिजनेस में कुछ ऐसे फायदे हैं जो नौकरी यानी job में नही होते हैं

देखिए नौकरी और बिजनेस दोनों में ही एक दूसरे की तुलना में कुछ फायदे और कुछ नुकसान होते हैं जो हर व्यक्ति की जरूरत के अनुसार अलग अलग हो सकते हैं

अतः Job or Business में आपके लिए क्या बेहतर है इन दोनों में से आपको क्या करना चाहिए तथा जॉब और बिजनेस में प्रमुख अंतर क्या होते हैं इन्हें विस्तार से समझते हैं

1. समय की पाबंदी

जॉब और बिजनेस में यह सबसे प्रमुख और बड़ा अंतर है आप चाहे कोई भी नौकरी करते हो चाहे वह सरकारी या प्राइवेट कैसी भी जॉब हो आपको एक निश्चित समय पर अपने Boss के office में पहुचना होता है

नौकरी या जॉब में आप को दिन में सुबह 9 या 10 बजे से लेकर शाम को पांच छह बजे तक काम करना होता है

लेकिन बिजनेस में ऐसा नही है आप पर समय की कोई पाबंदी नही होती है आप जब चाहे अपनी कंपनी या बिजनेस स्थान पर पहुचकर अपने काम को संभाल सकते हैं

2. सर्टिफिकेट और डिग्री

कोई भी नौकरी ढूंढने और जॉब प्राप्त करने के लिए बहुत ज्यादा पढ़ाई करनी पड़ती है

आप किसी भी जॉब के लिए जब Interview देने यानी साक्षात्कार के लिए जाते हैं तो आपसे संबंधित विभाग की डिग्री और सर्टिफिकेट मांगे जाते हैं

इस प्रकार भारी भरकम पढ़ाई और Degree & Certificates प्राप्त करने के बाद ही आप कोई जॉब यानी नौकरी करने के लायक बन पाते हैं

लेकिन Business में ऐसा नही है यदि आप ज्यादा पढ़े लिखे नही हैं और ना ही आपके पास कोई सर्टिफिकेट या डिग्री है तो भी आप एक बिजनेस कर सकते हैं

और बिना किसी सर्टिफिकेट या डिग्री के ही अपने टैलेंट से अपने बिजनेस को नई ऊंचाइयों पर ले जा सकते हैं

3. बॉस का आदेश

जॉब और बिजनेस में यह प्रमुख अंतर होता है कि जॉब में आपको अपने मालिक यानी बॉस के आदेश का पालन करना होता है आप अपनी मर्जी से कोई भी निर्णय नही ले सकते और यदि बॉस का मूड खराब है तो वह तो आपको बिना किसी गलती के डांट भी सकता है और मजबूरन आपको सुनना पड़ता है

लेकिन जॉब की तरह Business में ऐसा नहीं होता है क्योंकि बिजनेस में आप खुद ही अपने बॉस होते हैं और आप अपनी मर्जी से कोई भी निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र होते है

4. रोमांचक लाइफ

बिजनेस में आप रोज एक रोमांचक लाइफ जीते हैं Business में कम से कम संसाधनों और कम से कम लागत में अधिक से अधिक फायदा प्राप्त करने के लिए आप कुछ ना कुछ Ideas लगाते ही रहते हैं

और हमेशा अपने बिजनेस को और बड़ा करने के तरीकें खोजते रहते हैं इसके साथ ही जब बिजनेस में आपकों नुकसान हो जाता है तो उसकी भरपाई के लिए भी प्रयास करते हैं

इस प्रकार बिजनेस में आपको हर समय फायदे और नुकसान को ध्यान में रखते हुए निर्णय लेने होते हैं और आपको प्रत्येक दिन कुछ नया करना होता है जिससे आप हर बार कुछ नया सीखते हैं और रोमांचक लाइफ व्यतीत करते हैं

लेकिन नौकरी या जॉब में ऐसा नही होता है क्योंकि इसमें आपको हर रोज एक ही काम करना होता है जिसकी आपने पढ़ाई कर रखी है यानी जिस चीज की आपने Degree और  Certificate ले रखा है जॉब में आपको प्रत्येक दिन Same वही काम करना होता है

नौकरी में आप अपने से कोई निर्णय नही ले सकते और ना ही कंपनी के नफे या नुकसान से आपको कोई फर्क पड़ता है

नौकरी में आपकी दिनचर्या Daily Routine फिक्स होती है और हर रोज आपको उसे फॉलो करना होता है यह जरूरी नही होता कि आपको कुछ नया सीखने को मिले एक तरह से नौकरी में आप नीरस लाइफ व्यतीत करते हैं

5. लक्ज़री लाइफ

जॉब और बिजनेस में लक्ज़री लाइफ का सबसे बड़ा अंतर होता है देखिये नौकरी या जॉब से आप इतना ही पैसा कमा सकते हैं कि अपना एक अच्छा घर बना सके अपनी शादी कर सकें और बच्चों की पढ़ाई लिखाई ठीक ठाक कर सके

और कई बार तो नौकरी या जॉब से ऐसा करना भी बहुत मुश्किल हो जाता है आपकी जरूरते ही बड़ी मुश्किल से पूरी हो पाती हैं शौक तो बहुत दूर की बात है

कोई भी व्यक्ति जॉब करने से पहले सोचता है कि बस एक बार मेरी नौकरी लग जाये उसके बाद मेरे सारे शौक सारी ख्वाहिश पूरी करूंगा पर अफसोस की बात है नौकरी और जॉब से बस जरूरते पूरी करते करते ही व्यक्ति की कब उम्र बीत जाती है पता भी नही चल पाता है

मैंने किसी भी व्यक्ति को नौकरी यानी जॉब से अमीर होते नही देखा luxury life तो बस उसका सपना ही बन के रह जाता है लेकिन Business करने वाले अधिकतर व्यक्ति अमीर होते हैं समय समय पर बिजनेस में उतार चढ़ाव आते रहते हैं वो बात अलग है लेकिन हर बिजनेसमैन व्यक्ति लक्ज़री लाइफ व्यतीत करता है

6. बिजनेस में सोते समय भी पैसे कमाते हैं

दुनिया के तीसरे सबसे बड़े अमीर वॉरेन बफे का कहना है कि यदि आप सोते समय रुपिये नही कमाते हैं यानी सोते समय कमाई नही करते हैं तो आप कभी अमीर नही बन सकते

ये भी पढ़ें

बिजनेस में सफलता कैसे पाएं ? 25 तरीकें

60+ बिजनेस आइडिया जो गांव में रहकर कर सकते हैं

ऑनलाइन पैसे कैसे कमाये ? 30 तरीके

शेयर बाज़ार से पैसे कैसे कमाए – 15 बेहतरीन तरीकें

देखिये जब आप खुद का कोई काम करते हैं या कोई नौकरी और जॉब करते हैं तो इसमें आपको हर दिन काम करना होता है और जिस दिन आप काम पर नही जाते हैं उस दिन आपकी कमाई भी नही होती है

सरकारी नौकरी में महीने में कुछ दिन छुट्टी जरूर मिल जाती है लेकिन प्राइवेट नौकरी या जॉब में बहुत ही कम छुट्टी मिलती है और जब आपको कुछ काम हो जाता है और अपने मन से छुट्टी करते हैं या कहीं घूमने जाना चाहते हैं तो जितने दिन आप जॉब पर नही जाते उतने दिन की आपको तनख्वाह भी नही मिलती है

लेकिन बिजनेस में ऐसा नही है बिजनेस में आप सोते समय भी रुपिये कमाते हैं क्योंकि बिजनेस में लोग आपके लिए काम करते हैं और जब आप कहीं घूमने चले जाते हैं या दिन और रात में कभी सो भी जाते हैं तो दूसरे व्यक्ति और आपके पैसे आपके लिए काम करते रहते हैं और आप खुद से बिना कोई काम किये भी कमाई करते रहते हैं

7. जोड़ और गुणा का अंतर

यदि आप कोई जॉब या नौकरी करते हैं तो आपको वर्ष में एक या दो बार Increment मिलता है यानी साल में एक या दो बार आपकी Salary कुछ प्रतिशत बढ़ जाती है मान लेते हैं आपकी सैलरी 30,000 है तो 32,000 34,000 37,000 हर वर्ष कुछ इस प्रकार बढ़ती है

यानी नौकरी में हर वर्ष जब आपकी तनख्वाह बढ़ती है तो उसमें कुछ हजार रुपिये जुड़ जाते हैं – नौकरी और बिजनेस में 20 प्रमुख अंतर

इस प्रकार नौकरी या जॉब में आपकी सैलरी Add यानी जोड़ के रूप में बढ़ती है लेकिन बिजनेस में ऐसा नही है

बिजनेस में आपकी कमाई Multiple होती है यानी गुणा के रुप में बढ़ती है यदि एक साल आपके बिजनेस का टर्न ओवर 20 लाख है तो वर्ष दर वर्ष 30 40 50 लाख कुछ इस प्रकार बढ़ता है

हो सकता है कभी नुकसान भी हो जाये लेकिन नौकरी और बिजनेस में यह एक प्रमुख और बड़ा अंतर है

8. Thinking and Ideas

नौकरी में सोच विचार और Ideas का उतना महत्व नही होता जितना कि बिजनेस में होता है देखिये जॉब में आपको सोचने समझने और आईडिया लगाने की जरूरत नही होती क्योंकि जॉब में आप बॉस के अधीन काम करते हैं

यदि आप बॉस को कोई आईडिया देते भी हैं और यदि वह गलत साबित हो जाता है यानी आपके Idea से बॉस को नुकसान हो जाता है तो आपको नौकरी या जॉब से निकाला भी जा सकता है लेकिन बिजनेस में ऐसा नही है

बिजनेस में thinking और Ideas का अहम रोल होता है आप जितना सोच विचार कर और जितने अच्छे आईडिया अपने बिजनेस में लगाएंगे आपका बिजनेस उतना ही ज्यादा होगा और आपकी कमाई भी उसी हिसाब से बढ़ जाएगी

और यदि बिजनेस में आपका कोई आईडिया गलत हो जाता है यानी आपको नुकसान हो जाता है तो भी चिंता की कोई बात नही होती क्योंकि आपको कोई डांटने वाला नही होता बिजनेस में आप अपने बॉस खुद होते हैं और रही बात नुकसान की जिसे आप Next time कभी Recover कर सकते हैं

9. Income tax

जॉब और बिजनेस में Income tax यानी आय कर का भी एक बड़ा अंतर होता है

नौकरी या जॉब में आप जितने रुपिये कमाते हैं उस पूरे रुपिये यानी कुल कमाई पर पहले आपको टैक्स देना होता है और टैक्स का भुगतान करने के बाद जो रुपिये बचते हैं उससे अपनी जरूरते पूरी करते हैं

सीधे शब्दों में कह सकते हैं जॉब या नौकरी में टैक्स का भुगतान पहले ही कर देते हैं और खर्च बाद में करते हैं

लेकिन बिजनेस में ऐसा नही है बिजनेस में आपकी जो भी जरूरते और खर्चे होते हैं पहले उन्हें पूरा करते हैं जैसे कोई मशीनरी कार या बाइक खरीदना उन्हें पहले पूरा करते हैं और इसके बाद जो रुपिये बचते हैं उन पर टैक्स का भुगतान करते हैं

10. बिजनेस में पैसा आपके लिए काम करता है

जब आप कोई भी नौकरी या जॉब करते हैं तो आपको कुछ काम करना पड़ता है और बदले में आपको रुपिये पैसे मिलते हैं तो एक तरह से कहा जा सकता है कि नौकरी और जॉब में आप पैसे के लिए काम करते हैं

लेकिन बिजनेस में ऐसा नही है बिजनेस में पैसे से बहुत से व्यक्ति और मशीनरी हायर करके रखते हैं और वे आपके लिए काम करते हैं आपको काम करने की आवश्यकता नही होती इस प्रकार बिजनेस में पैसा आपके लिए काम करता है 

11. जॉब में आपकी मेहनत का फायदा बॉस को मिलता है

यदि आप अपनी नौकरी या जॉब में बहुत मेहनत करते हैं और बहुत टैलेंटेड व्यक्ति हैं तो इसका फायदा सिर्फ आपके बॉस को मिलता है आप जितनी ज्यादा मेहनत और लगन से अपनी नौकरी पर काम करते हैं आपके बॉस को उतना ही ज्यादा लाभ होता है और उसका बिजनेस कई गुणा बढ़ता ही चला जाता है

और बदले में आपको सिर्फ कुछ प्रतिशत इंक्रीमेंट मिल सकता है या प्रोमोशन हो सकता है बस और कुछ नही

इस प्रकार नौकरी और जॉब में आपकी मेहनत और क्वालिटी का पूरा फायदा आपके बॉस और कंपनी को मिलता है लेकिन बिजनेस में ऐसा नही है

बिजनेस में आपकी मेहनत क्वालिटी लग्न और क्षमता का सीधे आप ही को फायदा होता है बिजनेस में आप जितनी ज्यादा मेहनत और लग्न से काम करेंगे आपका बिजनेस उतना ही फलता फूलता जाएगा

12. बिजनेस में चिंता रहती है

नौकरी में आपको नफे नुकसान की कोई चिंता नही होती है कंपनी को चाहे नुकसान हो चाहे फायदा हो आपको अपनी तनख्वाह यानी Salary मिल ही जाती है

लेकिन बिजनेस में ऐसा नही है बिजनेस में आपको हमेशा कुछ न कुछ चिंता रहती है अपने बिजनेस को और बड़ा कैसे किया जाए और फायदा कैसे किया जाए कही आपके प्रतिस्पर्धा बिजनेस मैन आपसे आगे ना निकल जाए

इस प्रकार नौकरी और बिजनेस में यह प्रमुख अंतर होता है कि नौकरी में आप चिंतामुक्त रहते हैं लेकिन बिजनेस में आप हमेशा कुछ ना कुछ सोचते रहते हैं

13. Rules and Regulations

जॉब और बिजनेस में Rules and Regulations यानी कायदे कानून का भी काफी बड़ा अंतर होता है

एक तरह जहां नौकरी और जॉब में आपको बॉस के बनाये नियमों का पालन करना होता है और कब आना है ? कब जाना है ? कितने घंटे काम करना है ? और क्या काम करना है ? नौकरी में ये सब काम आपको वैसे ही करने पड़ते हैं जैसा कि बॉस चाहता है अपने मन से आप कुछ नहीं कर सकते और कोई नियम अपने मन से नहीं बना सकते

लेकिन बिजनेस में ऐसा नही है बिजनेस में आप स्वंय ही अपने नियम कायदे बना सकते हैं और आप कोई भी काम कभी भी करने, कभी भी आने और कभी भी जाने के लिए पूर्णतः आज़ाद होते हैं आप पर किसी की भी बंदिश नहीं होती है

14. Earnings limits

जॉब और बिजनेस में कमाई की सीमा का अंतर बिजनेस को जॉब और नौकरी से बहुत अलग कर देता है बेशक से आप कोई भी नौकरी या जॉब करते हो लेकिन उसमें एक खास बात होती है कि जॉब में आपको एक निश्चित तनख्वाह मिलती है यानी आपकी कमाई की एक सीमा होती है

लेकिन बिजनेस में आपकी कमाई की कोई सीमा नही होती है अपनी योग्यता और अनुभव से आप कितनी भी कमाई कर सकते हैं

15. बिजनेस में मर्जी के मालिक होते हैं

बिजनेस में आप अपनी मर्जी के खुद मालिक होते हैं आप कुछ भी निर्णय लेने और कोई भी काम करने या ना करने के लिए स्वतंत्र होते हैं आपका कोई बॉस नही होता है

लेकिन नौकरी या जॉब में ऐसा नही है जॉब और नौकरी में आप अपनी मर्जी से कोई निर्णय नही ले सकते हैं आपको क्या काम करना है और क्या नही करना यह सब आपका बॉस Decide करता है

16. जॉब में आप बॉस के सपने को पूरा करते हैं

जॉब और नौकरी में आपकी योग्यता और मेहनत का फायदा आपके बॉस और कंपनी को होता है एक तरह से जॉब करके आप अपने बॉस के सपने को पूरा करते हैं

लेकिन Business में ऐसा नही है बिजनेस में आप की योग्यता और मेहनत का फल सीधे आपको ही मिलता है अपनी मेहनत योग्यता और लग्न से आप अपने बिजनेस को चाहे जिस मुकाम पर ले जा सकते हैं और बेशुमार पैसा कमा सकते हैं और अपना हर एक Dream सपना पूरा कर सकते हैं

17. बिजनेस में अपने से ज्यादा पढ़े लिखे व्यक्ति को अपने नीचे रख सकते हैं

नौकरी और जॉब में आप जितने ज्यादा पढ़े लिखे हैं और आपके पास जितनी ज्यादा डिग्रियां हैं आपको उतना ही ज्यादा महत्व दिया जाता है और उतनी ही बढ़िया नौकरी और जॉब मिलती है

एक तरह से कह सकते हैं नौकरी और जॉब में आपकी योग्यता और ज्ञान का अंदाजा आपकी डिग्रियों से लगाया जाता है और जो व्यक्ति आपसे ज्यादा पढ़ा लिखा होता है जिसके पास आपसे ज्यादा डिग्रियां होती हैं उसे आपसे ज्यादा ज्यादा महत्व दिया जाता है और उसे आपसे बढ़िया पोस्ट और नौकरी दी जाती है

लेकिन बिजनेस में ऐसा नही है बिजनेस में आपको किसी भी संबंधित विषय का Real यानी असलियत में ज्ञान होना चाहिए यदि आपके पास संबंधित विषय की डिग्री नही है तो इससे कोई फर्क नही पड़ता है

बिजनेस में टैलेंट मायने रखता है बिजनेस में आप अपने से ज्यादा पढ़े लिखे और डिग्रियों वाले व्यक्तियों को भी अपने नीचे काम पर रख सकते हैं

18. बिजनेस में पैसा डूब भी सकता है

यदि आप कोई बिजनेस करते हैं और कुछ गलत निर्णय ले लेते हैं या बिजनेस में आपका कोई Idea गलत साबित हो जाता है तो आपको भारी नुकसान हो सकता है और आपका बिजनेस डूब भी सकता है

लेकिन नौकरी या जॉब में पैसा डूबने का रिस्क नहीं होता है और यदि किसी कारणवश आपको एक जगह नौकरी से निकाल दिया जाता है या आपको जॉब छोड़नी पड़ जाती है तो आप अपने उस नॉलेज से कही दूसरी जगह नौकरी हासिल कर सकते हैं क्योंकि ज्ञान कभी डूबता नही है यानी नष्ट नहीं होता है

19. बिजनेस से सबसे अमीर व्यक्ति भी बन सकते हैं

आज दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों में जो लोग शामिल हैं वे सब बिजनेस ही करते हैं कोई भी व्यक्ति नौकरी या जॉब करके अमीर नही बना

यदि आप कोई बिजनेस करते हैं तो इस बात के चांसेस हैं कि किसी दिन आप भी दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन सकते हैं लेकिन नौकरी या जॉब से यह संभव नही है

20. छुट्टी और घूमने की योजना

यदि आप कोई बिजनेस करते हैं और किसी दिन छुट्टी करना चाहते हैं या कुछ दिन कहीं घूमने जाना चाहते हैं तो आपको किसी से अनुमति लेने की आवश्यकता नही होती है आप अपनी मर्जी से कभी भी कही भी घूमने जा सकते हैं और खास बात यह कि बिजनेस में यदि आप घूमने चले जाते हैं तो भी आपका काम नही रुकता है

लेकिन नौकरी या जॉब में ऐसा नही है यदि आप कोई नौकरी या जॉब करते हैं और किसी दिन छुट्टी करना चाहते हैं या कुछ दिन कही घूमने जाना चाहते हैं तो पहली बात तो इतने दिन की छुट्टी और घूमने के लिए आपको बॉस से अनुमति ही ना मिले

क्योंकि जॉब और नौकरी में छुट्टी लेना बहुत मुश्किल होता है और यदि जितने दिन आप घूमने जाते हैं या छुट्टी लेते हैं उतने दिन की आपको तनख्वाह भी नही मिलती

Conclusion – Job Vs Business in Hindi

आशा करते हैं आपको नौकरी जॉब और बिजनेस में क्या अंतर है ? 20 Difference between Job and Business अच्छे से समझ आ गया होगा

आपको हमारी पोस्ट जॉब और बिजनेस में क्या अंतर है ? 20 Difference between Job and Business in Hindi (Job Vs Business Which is Better in Hindi कैसी लगी और आपको जॉब और बिजनेस में क्या अच्छा लगता है कमेंट में जरूर बताएं

2 thoughts on “जॉब और बिजनेस में क्या अंतर है ? 20 Difference between Job and Business in Hindi”

Leave a Comment

error: Content is protected !!