डी फार्मा और बी फार्मा में क्या अंतर है । D Pharma vs B Pharma which is Better

डी फार्मा और बी फार्मा में क्या अंतर है Compare & Difference between D Pharma and B Pharma बी फार्मा और डी फार्मा में कौनसा Course अच्छा होता है ज्यादा Job opportunity और Salary किसमें होती है

अधिकतर लोगों को डी फार्मा और बी फार्मा में यह कंफ्यूजन रहता है कि इन दोनों में से कौनसा कोर्स करना चाहिए डी फार्मा अच्छा रहेगा या फिर बी फार्मा क्या करें

डी फार्मा और बी फार्मा में क्या अंतर है ?

डी फार्मा और बी फार्मा में क्या अंतर है

Compare & Difference between D pharma and B pharma

देखिये ये दोनों ही Pharmacy Course हैं और दोनों ही कोर्सेज अच्छे हैं D pharma फार्मेसी में एक डिप्लोमा Diploma in pharmacy है और B pharma फार्मेसी में Bachelor of pharmacy एक डिग्री है

तो चलिए डी फार्मा और बी फार्मा में क्या अंतर है इसे हम इन दोनों कोर्सेज की Course Duration, Eligibility Criteria, Admission process, Annual fee, Job opportunities और Salary के आधार पर तुलना करते हैं और इसे विस्तार से समझते हैं

डी फार्मा और बी फार्मा में क्या अंतर है
D pharma vs B pharma which is better

Course Duration

यदि कोर्स अवधि की बात की जाए तो डी फार्मा और बी फार्मा में प्रमुख अंतर यह होता है कि डी फार्मा की कोर्स अवधि 2 वर्ष की होती है और बी फार्मा की कोर्स अवधि 4 वर्ष की होती है

लेकिन यदि आप डी फार्मा करने के बाद बी फार्मा करना चाहते हैं तो इसकी कोर्स अवधि 3 वर्ष की होती है डी फार्मा करने के बाद आपको सीधे बी फार्मा के 2nd Year में प्रवेश मिल जाता है इसे Lateral B pharma कहा जाता है

Eligibility Criteria

Difference between d pharma and b pharma in eligibility criteria

शैक्षणिक योग्यता के आधार पर डी फार्मा और बी फार्मा में क्या अंतर है इसकी निम्न प्रकार से तुलना कर सकते हैं

D pharma :- Science stream से 10+2 पास कोई भी छात्र जिसके पास PCM यानी Physics Chemistry Math या PCB -Physics Chemistry Biology विषय में 45 से 60 प्रतिशत अंक रहे हो D pharma करने के पात्र होता है

B pharma :- Science stream से 10+2 पास कोई भी छात्र जिसके पास PCM or PCB में 50 से 60 प्रतिशत अंक रहे हो B फार्मा करने के पात्र होता है

Lateral B pharma के केस में ऐसे छात्र जिनके D pharma में 45 प्रतिशत अंक रहे हो B pharma करने के पात्र होते हैं Sc और St केस में यह 40 प्रतिशत होता है

Fees Structure

Difference between d pharma and b pharma in fees structure

यदि फीस के आधार पर डी फार्मा और बी फार्मा की तुलना की जाये तो बी फार्मा में डी फार्मा के Compare ज्यादा फीस होती है और यह उस फार्मेसी इंस्टीट्यूट पर भी निर्भर करता है जिससे आप ये कोर्सेज करते हैं अलग अलग संस्थानों की अलग अलग फीस होती है

D pharma :- यदि आप किसी सरकारी कॉलेज से D pharma करते हैं यह फीस Per Year 20,000 से 40,000 तक होती है

और यदि आप किसी प्राइवेट कॉलेज से डी फार्मा करते हैं तो यह फीस Per year 70,000 से 1,00,000 तक होती है

B pharma :- यदि आप किसी सरकारी कॉलेज से बी फार्मा करते हैं तो यह फीस Per year 40,000 से 60,000 तक होती है

और यदि आप किसी प्राइवेट कॉलेज से बी फार्मा करते हैं तो यह फीस Per year 80,000 से 1,00,000 तक होती है

Admission process

डी फार्मा और बी फार्मा में यदि एडमिशन प्रोसेस की बात की जाए तो यह दोनों में लगभग एक समान ही होता है

सभी सरकारी और प्राइवेट Pharmacy institute में  बी फार्मा और डी फार्मा के लिए एडमिशन Entrance exam, Counseling और Group Discussion के आधार पर होता है

डी फार्मा में यह प्रवेश कई बार 12th कक्षा में अच्छे प्रदर्शन के आधार पर भी होता है

Job Opportunity

Compare between d pharma and b pharma in job opportunity

D pharma :- 1. यदि सरकारी क्षेत्र की बात की जाए तो डी फार्मा करने के बाद आप Railway Navy Airforce और बहुत सी सेनाओं के साथ ही सभी सरकारी हॉस्पिटल में एज अ फार्मासिस्ट और केमिस्ट के तौर पर सरकारी जॉब कर सकते हैं

2. आप किसी भी मेडिकल क्लीनिक पर केमिस्ट के तौर पर काम कर सकते हैं

3. किसी भी फार्मेसी रिसर्च विभाग और फार्मास्युटिकल कंपनी में जॉब कर सकते हैं

4. अपना खुद का Medical store खोल सकते हैं

B pharma :-  बी फार्मा करने के बाद आप ऊपर बताये गए वे सभी सरकारी और प्राइवेट जॉब कर सकते हैं जो एक डी फार्मासिस्ट कर सकता है

इनके अलावा B pharma करने के बाद आप UPSC SSC और अन्य सभी Graduation equivalent सरकारी जॉब भी कर सकते हैं क्योंकि बी फार्मा फार्मेसी में एक डिग्री है जिसकी ग्रेजुएशन के समान वैल्यू होती है हालांकि जब आप बी फार्मा कर लेते हैं तो ये सब करने की जरूरत होती नहीं है

बी फार्मा करने के बाद आप को इतना नॉलेज हो जाता है कि आप चाहें तो अपनी खुद की एक फार्मास्युटिकल कंपनी खोल सकते हैं

Drug Inspector

बहुत से लोगों को यह कंफ्यूजन रहता है कि डी फार्मा करने के बाद ड्रग इंसपेक्टर बन सकते है क्या तो इसका जवाब है नहीं

डी फार्मा और बी फार्मा में यह प्रमुख अंतर होता है डी फार्मा से आप ऐसा नही कर सकते Drug inspector बनने के लिए बी फार्मा करना जरूरी होता है

Salary

Difference between d pharma and b pharma in salary

डी फार्मा और बी फार्मा की सैलरी में क्या अंतर है इसे निम्न प्रकार से समझ सकते हैं

D pharma :- यदि डी फार्मा करने के बाद आप कोई सरकारी जॉब करते हैं आपकी तनख्वाह लगभग 40,000 से 50,000 तक होती है

और यदि आप किसी फार्मास्युटिकल कंपनी किसी हॉस्पिटल या मेडिकल स्टोर पर काम करते हैं तो आपकी सैलरी उस संस्थान जहाँ आप काम करते हैं और आपकी योग्यता पर निर्भर करती है यह लगभग 15,000 से 25,000 तक हो सकती है

यदि आप अपना खुद का मेडिकल स्टोर खोलते हैं तो इसमें आपकी कमाई आपकी योग्यता के साथ साथ उस जगह पर निर्भर करती है जहाँ आप अपना Medical store खोलते हैं

यदि आपका मेडिकल स्टोर मार्केट में किसी ऐसी जगह है जहाँ बहुत ज्यादा ग्राहक आते हैं तो आपकी कमाई बहुत ज्यादा होती है

B pharma :- बी फार्मा करने के बाद जब आप कोई सरकारी जॉब करते हैं तो salary डी फार्मा के लगभग बराबर ही 40 – 50 हजार तक होती है

बी फार्मा करने के बाद जब आप किसी मेडिसिन कंपनी हॉस्पिटल इत्यादि में जॉब करते हैं आपकी सैलरी आपकी योग्यता और उस इंस्टीट्यूट पर निर्भर करती है जहाँ आप जॉब करते हैं सामान्यतया यह 20,000 से 30,000 हजार तक होती है

बी फार्मा करने के बाद यदि आप Drug inspector बन जाते हैं तो आपकी salary 50,000 से 60,000 तक होती है

बी फार्मा करने के बाद यदि आप खुद का मेडिकल स्टोर खोलते हैं तो आपकी क्या कमाई हो सकती है यह डी फार्मा के केस में बता चुके हैं

इसके साथ ही बी फार्मा करने के बाद अपनी खुद की मेडिसिन कंपनी भी खोल सकते हैं और अपना खुद का बिजनेस कर सकते हैं जिसमें यदि आपकी कंपनी चल पड़ती है तो आपकी कमाई यानी Per year business turn over unlimited हो सकता है

ये भी पढ़ें

फर्स्ट पार्टी और थर्ड पार्टी इंश्योरेंस में क्या अंतर है ?

जॉब और बिजनेस में क्या अंतर है – which is better

कार/बाइक चोरी होने पर इंश्योरेंस क्लेम कैसे करे 

Subject & Exam

यदि सब्जेक्ट और एग्जाम की बात की जाए तो डी फार्मा में हर वर्ष 6 विषय कवर किये जाते हैं और सेमेस्टर के हिसाब से वर्ष में दो बार परीक्षा होती है

प्रथम सेमेस्टर की परीक्षा मई – जून में होती है और दूसरे सेमेस्टर की परीक्षा सितंबर – जनवरी में होती है

जबकि बी फार्मा में हर वर्ष 6 से 12 विषय कवर किये जाते हैं और exam डी फार्मा के समान ही वर्ष में दो बार सेमेस्टर वाइज होती है

Which is better in d pharma and b pharma

डी फार्मा और बी फार्मा में क्या अच्छा है ?

देखिये डी फार्मा और बी फार्मा दोनों ही कोर्स अच्छे हैं और दोनों का अपना अलग अलग महत्व है इन दोनों कोर्सेज में कोनसा अच्छा है यह आपके जरूरत और स्थिती पर निर्भर करता है

यहां डी फार्मा और बी फार्मा में क्या अंतर है इससे संबंधित कुछ जरूरी बातें बता रहे हैं जिसके आधार पर अपने लिए आप स्वंय निर्णय कर सकते हैं कि आप के लिए कोनसा कोर्स अच्छा है

  1. यदि आप बस खुद का Medical store ही खोलना चाहते हैं तो इसके लिए बी फार्मा की आवश्यकता नही होती है यह काम आप डी फार्मा से भी कर सकते हैं
  2. यदि आपकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है और जीवन मे जल्दी settle होना चाहते हैं तो आप डी फार्मा कर सकते हैं
  3. यदि आप Drug inspector बनना चाहते हैं तो इसके लिए बी फार्मा करना जरूरी होता है आप डी फार्मा करके ड्रग इंस्पेक्टर नहीं बन सकते हैं
  4. बी फार्मा करने के बाद आप स्नातक स्तर की किसी भी सरकारी नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं

डी फार्मा और बी फार्मा कहाँ से करें

आज हमारे देश मे बहुत सारे कॉलेज हैं जिनसे आप डी फार्मा और बी फार्मा कर सकते हैं जिनकी चर्चा हम पिछले पोस्ट में कर चुके हैं जिसे आप यहां पढ़ सकते हैं

D pharma क्या है | डी फार्मा से कैरियर कैसे बनाए

लेकिन यहाँ ध्यान देने वाली यह है कि आपको बी फार्मा हो या डी फार्मा ये उसी कॉलेज से करने चाहिए जिन्हें PCI यानी Pharmacy Council of India से मान्यता प्राप्त हो

इसे आप फार्मेसी कौंसिल ऑफ इंडिया की ऑफिशियल वेबसाइट www.pci.nic.in से पता कर सकते हैं कि वह कॉलेज pci से मान्यता प्राप्त है या नहीं

Conclusion – d pharma Vs b pharma which is better

आशा करते हैं आपको Compare & Difference between D pharma and B pharma तथा डी फार्मा बी फार्मा से अलग कैसे है और आपके लिए डी फार्मा और बी फार्मा में क्या अच्छा है अच्छे से समझ आ गया होगा

आपको हमारी पोस्ट “डी फार्मा और बी फार्मा में क्या अंतर है | d pharma Vs b pharma – Which is better” कैसी लगी कमेंट में जरूर बताएं

यदि D pharma और B pharma से संबंधित अभी भी आपके कुछ सवाल हैं या कुछ सलाह देना चाहते हैं तो कमेंट में बेझिझक जरूर बताएं

33 thoughts on “डी फार्मा और बी फार्मा में क्या अंतर है । D Pharma vs B Pharma which is Better”

  1. 𝙎𝙞𝙧 𝘿. 𝙁𝙖𝙧𝙢𝙖 𝙠𝙖𝙧𝙣𝙚 𝙠𝙚 𝙗𝙖𝙖𝙙 𝙨𝙖𝙧𝙠𝙖𝙧𝙞 𝙣𝙤𝙠𝙧𝙞 𝙠𝙚 𝙡𝙞𝙮𝙚 𝙠𝙝𝙖 𝙥𝙚 𝙨𝙖𝙩𝙩𝙡𝙚 𝙝𝙤𝙣𝙖 𝙘𝙝𝙖𝙝𝙞𝙮𝙚…. 𝙍𝙚𝙥𝙡𝙮

    Reply
    • डी फार्मा से आप किसी भी सरकारी हॉस्पिटल में एज अ फार्मासिस्ट / केमिस्ट (मेडिसिन वितरण विभाग) में As a govt job सैटल हो सकते हैं, लेकिन dear यदि आपका बजट अच्छा है और मार्केट में ठीक ठाक जगह शॉप खोल सकते हैं तो सबसे अच्छा यही होगा कि आप अपना खुद का मेडिकल स्टोर खोल ले क्योंकि अधिकतर लोग तो D pharma करते ही इसीलिए है की वे खुद का मेडिकल स्टोर खोल सके इस फील्ड में बहुत कमाई है लोग BMW तक खरीद लेते हैं

      Reply
    • Yah is bat par nirbhar karta hai ki aap D pharma or B pharma kar ke kya karna chahte hai sath hi aap ne 03 year Bsc karne me pahle hi laga diye hai Isliye Agar aap jaldi set hona chahte hai aur khud ka medical store kholna chahte hai to aapke liye D pharma Best rahega Kyonki yeh sirf 02 Years me hi ho jata hai aur isse aapko medical store kholne ki Permission bhi mil jati hai aur isse kitni kamayi ho skti hai ye to post me padh hi chuke hai

      Reply
    • Mukesh ji
      Sirf D Pharma karne se aap Upsc Ssc ke exam nahi de sakte iske liye aapko B Pharma karna hota hai B Pharma Graduation equivalent hota hai jis se aap graduation equivalent jaise Upsc ssc koi bhi exam de sakte hai
      Aur agar aap D pharma karne ke bad B pharma karte hai to aap sirf 2 sal me hi B pharma degree mil jayegi

      Reply
    • B pharma me 4 sal lagte hai aur D pharma 2 sal me hi ho jata hai aur isme isme b pharma ke bjay fees bhi kam lagti h aur d pharma krne par bhi aapko medical store kholne ka licence mil jata h iske liye b pharma krne ki jarurat nahi padti sath hi chahe to aap kisi hospital aadi me as a pharmacist job bhi kar sakte hai isliye yadi aapka budget kam hai aur jaldi set hona chahte hai to d pharma sahi rhega

      Reply
  2. बहुत ही बेस्ट इंफॉर्मेशन दी है आपने, थैंक यू सो मच

    Reply
    • ओमकार नाथ जी
      आप अपनी आवश्कता के हिसाब से दोनों में कोई सा भी कोर्स कर सकते हैं दोंनो ही कोर्स अच्छे हैं बस ध्यान देने वाली बात ये है कि आपकी आवश्यकता क्या है जो हमने इस आर्टिकल में विस्तार से बताया है
      और रही बात बीएससी केमिस्ट्री की तो देखिए इसके लिए आपको कोई विशेष छूट नहीं मिलती है
      हां यदि आपने डी फार्म पहले से ही कर रखा है तो आपको बी फार्मा में Leteral entrance के तहत 1 वर्ष का फायदा मिल जाता है आपको सीधे 2nd year में प्रवेश मिल जाता है
      लेकिन बीएससी केमिस्ट्री के केस में बी फार्म करने में आपको पूरे 4 वर्ष लगते हैं
      धन्यवाद

      Reply
    • जी बिल्कुल
      आप बी फार्मा के बाद पीएचडी कर सकती हैं पर इससे पहले आपको एम फार्म करना होगा

      Reply
  3. Sir mera m.sc( microbiology) se complete hai to mere liya d. pharmacy better rahega. Good job opportunity ke chance kitne rahenge.

    Reply
    • हाँ
      यदि आप सिर्फ मेडिकल स्टोर खोलना चाहते हैं तो डी फार्मा एकदम सही है

      Reply
  4. Hii
    Sir I am a student of graduation 2nd year.
    Hons. Is English.
    Now I want to do any pharmasist cource.
    Medical store ke liye.

    Reply
    • हम किसी भी हॉस्पिटल में जाते हैं तो डॉक्टर कुछ रुपये 100 200 से लेकर हजारों की संख्या में परामर्श फीस के रूप में लेता है और हमें कुछ मेडिसिन लिखकर देता है जिसे उसी हॉस्पिटल के मेडिकल स्टोर में लेना होता है और उस मेडिकल स्टोर में जो मेडीसीन देने वाला होता है वो फार्मासिस्ट ही होता है
      आशा करता हूं रोहन जी अब आप समझ गए होंगे कि फार्मासिस्ट का क्या काम होता है

      Reply
      • Sir hame d pharma karna hai main district balrampur se hun aur main kis college se d pharma course karu jo bharat sarkar davra manyata praapt ho

        Reply
  5. Sir m class 12th ki students hu mujhe B.pharmacy krni h or mere pass (PCM) Subject h toh kya B.pharmacy ho sakti h kya. Sir thoda sa confussion ho rha h.

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!