शेयर मार्केट क्या है – A Complete Guide in Hindi

शेयर मार्केट क्या है – शेयर मार्केट एक ऐसी जगह है जहां आप सोते समय भी पैसे कमा सकते हैं और आपको शारीरिक रूप से काम करने की कोई आवश्यकता भी नहीं होती है आपको बस कंपनी के शेयर खरीदने होते हैं फिर जितना मुनाफा उस कंपनी को होता है उसी अनुपात में आपको भी फायदा होता है

तो चलिए शुरू करते हैं शेयर मार्केट क्या है और यह काम कैसे करता है Share Market kya hai – A complete Guide in Hindi

देखिए आज के समय हर व्यक्ति बहुत ज्यादा पैसा कमाना चाहता है और चाहे भी क्यो नही ? क्योंकि आजकल जो आदमी जितना ज्यादा कमाता है उसे उतना ही ज्यादा इज्जत मिलता है

लेकिन आप कितने रुपये कमाते हैं यह बात महत्वपूर्ण नहीं है बल्कि महत्वपूर्ण है कि आप कितने बचा पाते हैं और इससे भी महत्वपूर्ण बात है कि आप उस बचाये हुए रुपये को निवेश कहाँ करते हैं असल मे अमीर बनने का खेल यहीं से शुरू होता है और शेयर मार्केट इस फील्ड का सबसे बड़ा खेल है

आप अपने बचाये हुए पैसे को कई जगह निवेश कर सकते हैं जैसे 1. बैंक में फिक्स्ड डिपॉजिट कर सकते हैं 2. जमीन या प्लाट खरीद सकते हैं 3. गोल्ड में निवेश कर सकते हैं 4. कोई बिजनेस कर सकते हैं

लेकिन निवेश करने के सभी तरीकों में शेयर मार्केट का नाम सबसे ऊपर आता है शेयर मार्केट निवेश के क्षेत्र का सबसे बड़ा स्रोत है

फुल आर्टिकल एक नजर में

शेयर मार्केट क्या है (Share Market Kya Hai – A Complete Guide in Hindi)

शेयर मार्केट क्या है

 

देखिए शेयर मार्केट एक बड़ा चैप्टर है इसलिए पहले शेयर मार्केट से जुड़े महत्वपूर्ण शब्दों को एक एक करके समझते हैं फिर आप इसे बहुत आसानी से समझ पाएंगे तो चलिए इन्हें एक एक करके डिटेल से समझते हैं

Shares क्या है

कंपनी गणितीय रूप से अपने सम्पूर्ण बिजनेस को छोटे छोटे भागो में विभाजित कर देती है जिससे आम लोग उस कंपनी में हिस्सेदारी खरीद सके

मान लेते हैं एक कंपनी ABC ने 1 लाख शेयर Issue किए हैं और आप इसके 10,000 शेयर खरीद लेते हैं तो आप इस कंपनी में 10% हिस्सेदार बन जाते हैं

अतः साधारण भाषा मे शेयर का अर्थ होता है भाग टुकड़े या हिस्सेदारी और शेयर मार्केट में शेयर का अर्थ होता है कंपनियों में हिस्सेदारी यानी आपकी किसी कंपनी में कितनी हिस्सेदारी है और आपके पास किसी कंपनी के कितने शेयर हैं

और जब आप किसी कंपनी के share खरीद लेते हैं तो आप उस कंपनी में हिस्सेदार बन जाते है और अब भविष्य में कंपनी को जितना मुनाफा/नुकसान होगा उसी अनुपात में आप को भी मुनाफा/नुकसान होगा

Demat Acount क्या है

जिस प्रकार बैंक में पैसे रखने के लिए बैंक अकाउंट होता है उसी प्रकार शेयर रखने के लिये Demat Acount होता है

Share market में हम जो shares खरीदते हैं वे डीमैट अकाउंट में store होते हैं Demat account एक प्रकार से शेयर्स के लिए लॉकर की तरह होता है

Broker क्या होता है

जिस प्रकार आप किसी दुकानदार से परचून का घरेलू सामान खरीदते हैं उसी शेयर मार्केट में ब्रोकर से शेयर खरीदते हैं एक दुकानदार की तरह ब्रोकर शेयर खरीदने का एक माध्यम होता है

हमारे भारतीय शेयर मार्केट में प्रमुख ब्रोकर इस प्रकार हैं

  • Zerodha
  • Angel broking
  • Sharekhan
  • 5 paisa
  • Upstox
  • Motilal oswal

आप अपनी सुविधानुसार किसी भी ब्रोकर के पास अपना Demat account खोल सकते हैं

Trading Acount क्या है

trading account वह account होता है जहां आप शेयर्स की ख़रीदी बेची करते हैं जब आप शेयर्स खरीदते हैं तो यहां से पैसे जाते हैं और शेयर्स आते हैं और जब शेयर्स बेचते हैं तो शेयर्स जाते हैं पैसे आते हैं

ट्रेडिंग अकाउंट एक तरह से डीमैट अकाउंट के साथ ही अटैच होता और असल मे आपको पता भी नही चलता है कि ये दोनों अकाउंट अलग अलग हैं

Stock Exchange क्या है

स्टॉक एक्सचेंज कंप्यूटरो का एक ऐसा नेटवर्क होता है जहां आप अपने Brokers के माध्यम से shares की खरीदारी औऱ बिकवाली करते हैं

जब आप shares खरीदने और बेचने के लिए ऑर्डर डालते हैं तो उच्च तकनीकी Softwares द्वारा इन सभी ऑर्डर्स का बहुत तेज गति से मिलान किया जाता है

हमारे देश मे दो प्रमुख stock exchange हैं

  1. Bombay Stock Exchange (BSE)
  2. National stock exchange (NSE)

Trading और Investing क्या है

Demat & trading अकाउंट ओपन करने के बाद बात आती है रुपिये कमाने की तो देखिए इसके लिए हम किसी कंपनी के शेयर खरीद कर उन्हें कुछ समय तक अपने पास रखते हैं और जब उनका भाव बढ़ जाता है तो उन्हें बेचकर मुनाफा कमाते हैं बस इसी प्रोसेस को Trading & Investing कहा जाता है

जब हम किसी कंपनी के शेयर खरीद लेते हैं तो चाहे तो उन्हें अगले ही कुछ सेकंड बाद बेच सकते हैं और चाहे तो उन्हें कई सालों तक भी अपने पास रख सकते हैं इस आधार पर ट्रेडिंग और इनवेस्टिंग निम्न प्रकार की होती है

  • Day trading – Intra day
  • Swing trading
  • Investing

Intra Day और Day trading क्या है

जब हम किसी कंपनी के शेयर खरीद कर उन्हें एक ही दिन के भीतर यानी उसी दिन (चाहे कुछ सेकंड बाद ही) बेच देते हैं तो इस प्रकार की ट्रेडिंग को Day trading or Intra day कहा जाता है

Day trading में खास बात ये होती है कि इसमे ब्रोकर आपको 10 से 30 गुना तक लीवरेज प्रदान करता है यानी यदि आपके demat अकॉउंट में सिर्फ 5000 रुपये हैं तो भी आप 50,000 से 1,50,000 रुपये तक के शेयर खरीद सकते हो

Swing Trading क्या है

जब आप किसी कंपनी के शेयर खरीदकर उन्हें एक दिन से ज्यादा समय के लिए अपने पास रखते हैं और उन्हें कुछ दिन या कुछ महीनों बाद मुनाफा अर्जित कर के बेचते हैं तो इस प्रकार की ट्रेडिंग को Swing trading कहा जाता है

Investing क्या है

जब आप शेयर मार्केट में किसी कंपनी के शेयर खरीद कर उन्हें कम से कम एक साल से लेकर कई सालों तक अपने पास रखते हैं और एक Long Term में मुनाफा अर्जित कर शेयर बेचते हैं तो इसे Investing कहा जाता है

शेयर मार्केट में सबसे ज्यादा मुनाफा Investing में ही होता है इसे सबसे सुरक्षित निवेश भी माना जाता है

Dividend क्या है

जब कंपनी मुनाफा कमाती है तो उसमें से कुछ हिस्सा अपने शेयर धारको को भी देती है तो इसे Dividend कहा जाता है

लेकिन यह पूरी तरह से कंपनी के डायरेक्टर और प्रबंधन पर निर्भर करता है कि dividend कितना देना है और देना भी है या नही देना

और वैसे भी हम शेयर dividend के लिए नही बल्कि उसका प्राइस बढ़े इसलिये खरीदते हैं

सेंसेक्स क्या है – What is Sensex in Share Market

आप ने कई बार शेयर मार्केट से संबंधित कुछ कॉमन शब्द जरूर सुने होंगे जैसे Sensex और Nifty और कई बार न्यूज पेपर में भी पढ़ते हैं आज बाजार 200 अंक चढ़ा 300 अंक गिरा लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि इन शब्दों का क्या मतलब होता है और शेयर बाजार चढ़ता गिरता कैसे है

तो देखिए Sensex बाजार को मापने का एक तरीका है एवं लोगो को यह बताने का अंदाजा है कि आजकल शेयर मार्केट कैसा परफॉर्म कर रहा है

BSE (bombay stock exchange) में लगभग 5000 कंपनिया listed है

जब सरकार को महंगाई का पता करना होता है तो कुछ जरूरी 15 – 20 चीजो जैसे प्याज टमाटर चीनी आदि के प्राइस का औसत लेती है और इससे बाकी की सारी चीजों का अंदाजा लगा लिया जाता है कि उन सभी मे भी महंगाई उसी अनुपात में चल रही है

उसी प्रकार Sensex में BSE की 5000 कंपनियों में से सबसे बड़ी top 30 companies को चुना गया है और ये 30 कंपनियां कैसा perform कर रही हैं इनके share price कितने कम ज्यादा हो रहे हैं इनके औसत से बाकी की पूरी 5000 कंपनियों का अंदाजा लगा लिया जाता है और ये मान लिया जाता है कि बाकी की सभी कंपनियां भी वैसा ही perform कर रहीं हैं

निफ्टी क्या है – What is Nifty in Share Market

जिस प्रकार सेंसेक्स, Bombay Stock Exchange (BSE) का शेयर मार्केट को मापने का एक तरीका है उसी प्रकार

Nifty, National Stock Exchange (NSE) का शेयर मार्केट को मापने का तरीका है NSE (national stock exchange) में लगभग 1600 कंपनिया listed हैं

NIFTY में National stock exchange की सबसे बड़ी top 50 companies को चुना गया है इसलिए इसे Nifty 50 भी कहा जाता है

IPO क्या है – What is IPO in Share Market

कंपनी पहली बार आम जनता को अपने Share Issue करने के लिए सबसे पहले अपने आप को Stock Exchange यानी शेयर मार्केट में List करवाती हैं और यह सारी प्रक्रिया IPO के माध्यम से होती है

जब कंपनी पहली बार अपने shares पब्लिक यानी आम जनता को issue करती है तो इसे IPO यानी Initial Public Offering कहा जाता है

IPO के बारे में Detail से समझने के लिए आप हमारी ये वाली post पढ़ सकते हैं

IPO क्या है ? IPO से पैसे कैसे कमाये

और जब IPO पूरा हो जाता है तो कंपनी Share Market में list हो जाती है और अब आप Stock Exchange और Brokers के माध्यम से उस कंपनी के शेयर खरीद और बेच सकते हैं

शेयर का भाव कम ज्यादा क्यो होता है – Why share price fluctuate

IPO के समय शेयर का मूल्य कंपनी खुद तय करती है लेकिन जब कंपनी Share Market में list हो जाती है तो उसके शेयर का भाव बदलता रहता है

कंपनियों के Share Price में यह बदलाव डिमांड और सप्लाई के कारण होता है

Demand & Supply क्या है

जब शेयर मार्केट में किसी शेयर के खरीददारों की संख्या बेचने वालों की संख्या से ज्यादा हो जाती है तो इस स्थिति में उस शेयर की Demand बढ़ जाती है और Supply कम हो जाती है इसलिए उस शेयर का भाव बढ़ जाता है

और जब किसी शेयर को बेचने वालों की संख्या खरीददारों की संख्या से अधिक हो जाती है तो इस स्थिति में शेयर की Demand कम हो जाती है और Supply बढ़ जाती है इसलिए शेयर का भाव गिर जाता है

आइये इसे एक उदाहरण से समझते हैं मान लेते हैं HDFC बैंक ने अपने सालाना नतीजे घोषित किये हैं जिसमे उसे पिछले साल के मुकाबले 30% का profit हुआ है और आज इसका शेयर प्राइस 900 रुपिये हैं

अब कोई व्यक्ति 905 रुपिये में शेयर खरीदने के लिए आर्डर डालता है लेकिन इस प्राइस पे कोई नही बेचता है चूंकि उन्हें लगता है कि इसका भाव और बढ़ेगा

अब वह व्यक्ति 910 में खरीदने के लिए आर्डर डालता है और अब भी कोई बेचने को तैयार नही है फिर वह 915 या इससे ज्यादा का कोई ऑर्डर डालता है और उसे शेयर मिल जाते हैं

शेयर बाज़ार और Nifty के क्या फायदे हैं

इस प्रकार हम ने देखा कि जब शेयर की Demand उसकी Supply से ज्यादा हो जाती है तो Share market में उस शेयर का भाव बढ़ जाता है

और इसका उल्टा होने पर यानी जब कंपनी को नुकसान होता है या उससे संबंधित कोई खराब न्यूज़ आती है तो शेयर का भाव कम हो जाता है

शेयर मार्केट से क्या फायदा है – What benefits of Share Market in hindi

जैसा कि हमने शुरुआत में ही बताया था कि शेयर मार्केट एक ऐसी जगह है जहां आप शारीरिक रूप से बिना मेहनत किये और सोते समय भी रुपये कमा सकते हैं बस आपको इसकी अच्छी समझ होनी चाहिए और पैसे होने चाहिए

तो देखिए अगर आप कोई Business करना चाहते हैं लेकिन आप के पास उतना पैसा नही है कि जितना उस बिजनेस के लिए चाहिए तो ये आप ये काम Share market के जरिए कर सकते हैं

उदाहरण के लिए मान लेते हैं कि आप एक electric मोटर कार बनाने का Business शुरू करना चाहते हैं लेकिन ना आप के पास उतना पैसा है ना कोई विशेष योग्यता है और ना ही लोगो की एक बड़ी सी टीम है

तो ऐसी स्थिति में आप electric मोटर कार बनाने वाली किसी कंपनी के शेयर खरीद कर उसमें हिस्सेदार बन सकते हो और जितना मुनाफा उस कंपनी को होगा उतना ही आपको भी हो जाएगा

इस प्रकार Share Market आप को जितना चाहो उतने रुपये के साथ आप का मनपसंद बिजनेस करने का मौका देता है

प्याज का बिजनेस कैसे करे ? चार महीनों में 300% कमाई

बस का बिजनेस कैसे करे

Demat & Trading Account खोलने के लिए आवश्यक Documents

आजकल डिमैट और ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाना बहुत ही आसान हो गया है इसे हम किसी भी ब्रोकर के माध्यम से online 5 minute में ओपन कर सकते हैं

Demat and trading Account खुलवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज इस प्रकार हैं

  • Pan card
  • Address proof (Aadhar card)
  • Income proof
  • Cancel cheque
  • 2 Passport size photo

इन सभी दस्तावेजों को जमा करते समय इस बात का जरूर ध्यान रखे कि इन सभी डाक्यूमेंट्स में आप का नाम सही स्पष्ट और एक ही तरह से लिखा होना चाहिए

शेयर मार्केट से कमाते कैसे हैं -How to earn from shares

अब सवाल उठता है कि हम शेयर क्यो खरीदते हैं और शेयर्स से कमाते कैसे हैं तो देखिये जब हम किसी कंपनी के शेयर खरीदते हैं तो इस उम्मीद से खरीदते हैं कि आगे चलकर कंपनी मुनाफा (प्रॉफिट) कमाएगी और फिर मेरी कमाई होगी

Q. क्या कंपनी अपना प्रॉफिट शेयर धारको में बांट देती है 

Ans. हां कुछ कंपनियां अपना प्रॉफिट शेयर धारकों में बांटती है जिसे डिविडेंड कहा जाता है लेकिन ऐसा करने के लिए कोई भी कंपनी बाध्य नहीं होती है यह उसकी मर्जी होती है वह चाहे तो चाहे तो ऐसा कर सकती है चाहे तो ना भी करे

कुल मिलाकर हम शेयर मार्केट में किसी कंपनी के शेयर खरीद कर दो प्रकार से प्रॉफिट कमाते हैं

  1. Capital appreciation जब शेेेयर का भाव बढ़ जाये
  2. Dividend

Capital appreciation क्या है

जब शेयर का दाम (price) बढ़ जाये मान लेते हैं आप एक शेयर 50 रुपये का लेते हैं और कुछ समय बाद वह 100 रुपिये का हो जाता है तो प्रति एक शेयर आप को 50 रुपिये का प्रॉफिट हुआ

शेयर का price कैसे बढ़ता है आइये इसे एक छोटे से उदारहण से समझते हैं

जिस प्रकार IPL (क्रिकेट) में उस खिलाडी का प्राइस ज्यादा होता है जो अच्छा perform करता है यानी जो अच्छा खेलता है ठीक इसी प्रकार

जो कंपनी हर महीने हर साल अच्छा perform करती है यानी अच्छा मुनाफा कमाती है उस का शेयर प्राइस भी उसी अनुपात में बढ़ता है

कंपनी जितना ज्यादा प्रॉफिट कमाएगी उतना ज्यादा उसका शेयर प्राइस बढेगा और उतना ही ज्यादा आप भी मुनाफा कमाएंगे

शेयर मार्केट में निवेश कैसे करे – Important Share Market tips

कोई भी काम करने से पहले आप को उसके बारे में अच्छे से समझ लेना चाहिए और फिर उसकी शुरुआत करते हैं तो अच्छा होता है

शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले इसे अच्छे से समझ लेना चाहिए तो चलिए इससे संबंधित कुछ जरूरी बातो पर चर्चा करते हैं जो आप को आवश्यक रूप से पता होनी ही चाहिए

1. Risk factors को समझे

शेयर मार्केट में पैसा कमाना जितना आसान है पैसा गंवाना भी उतना ही आसान है हर आदमी की Risk लेने की अपनी सीमा होती है इसलिए शुरूआत में जब आप को Share Market का ज्यादा ज्ञान नही है तो आप को ज्यादा रुपये Invest नही करने चाहिए

वो कहते हैं ना कि धंधा फैल हो जाये तो कोई बात नही पर आदमी फैल नही होना चाहिए इसलिए शुरुआत में उतना ही निवेश करो जितना जोखिम आप सहन कर सकते हैं

2. निवेश को Diversify करे

वो कहावत है ना कि अपने सभी अंडे एक ही टोकरी में मत रखो क्योंकि यदि टोकरी गिर जाती है तो आपके सारे अंडे फूट जायेंगे

इसी प्रकार शेयर मार्केट में निवेश करते समय भी यह बात ध्यान रखनी चाहिए कि एक ही कंपनी के बहुत सारे शेयर खरीदने के बजाय अलग अलग कंपनियों के थोड़े थोड़े शेयर खरीदे

जिस से यदि आप को किसी एक कंपनी में नुकसान हो जाता है तो इसकी भरपाई दूसरी कंपनियों के शेयर्स से हो सके

3. Reserch & planning

किसी भी कंपनी में निवेश से पहले उसके बारे में अच्छे से जानकारी लेनी चाहिए कि वो कंपनी क्या बिजनेस करती है ? क्या प्रोडक्ट बनाती है ? कितने फायदे या नुकसान में है ? आने वाले समय मे उसके प्रोडक्ट की डिमांड कितनी बढ़ने वाली है ? उसपे कितना Debt यानी कर्ज है आदि आदि

Pe Ratio क्या है ? शेयर मार्केट में अच्छे शेयर कैसे पहचाने

4. अपना रिसर्च खुद करे

किसी दोस्त रिलेटिव या tv चैनल किसी की भी सलाह पर कोई शेयर ना खरीदे आप को खुद ही research करके शेयर खरीदने चाहिए

यदि इससे आप को नुकसान भी होता है तो कोई बात नही क्योंकि इससे आप को एक अनुभव मिलेगा और अगली बार आप वो गलती नही करोगे

5. लंबे अवधि के लिए निवेश करें

यदि Share market में निवेश करने के लिए आप ने किसी कंपनी का रिसर्च कर लिया है और शेयर खरीद लिए हैं तो उन्हें लंबे समय का टारगेट बनाकर Hold करे

क्योकि Short term में शेयर मार्केट में उतार चढ़ाव आते ही रहते हैं और मोटा मुनाफा हमेशा लंबे समय यानी long term investment में ही होता है

Conclusion

शेयर मार्केट पैसिव इनकम करने का एक स्रोत है जिससे आप सोते समय भी कमाई कर सकते हैं शेयर मार्केट में आपको किसी कंपनी शेयर खरीदने होते हैं और फिर उस कंपनी को जितना मुनाफा होता है उसी अनुपात में आपको भी मुनाफा होता है 

संक्षिप्त में कहा जाए तो शेयर मार्केट निवेश का एक ऐसा क्षेत्र है जो आपको करोड़पति अरबपति भी बना सकता है दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों में शामिल वारेन बफे शेयर मार्केट में निवेश करके की इतने अमीर बने हैं लेकिन इसके अपने कुछ जोखिम भी हैं जिन्हें ठीक से नहीं समझा जाये तो बहुत नुकसान भी हो सकता है

इस आर्टिकल में शेयर मार्केट क्या है और यह कैसे करता है और इससे जुड़े सभी महत्वपूर्ण शब्द जैसे डिमैट अकाउंट क्या है ? IPO क्या है ? Stock Exchangeक्या है ? Nifty और Sensex क्या है ? ब्रोकर क्या है ? शेयर प्राइस कम ज्यादा कैसे होता है ? ट्रेडिंग क्या है ? Day trading और Intra day क्या है ? Swing trading क्या है ? Investing क्या है ? यह सब विस्तार से बताया गया है और यदि अभी भी आपके कुछ सवाल हैं तो बेझिझक कमेंट में पूछ सकते हैं

हम अपनी कोशिश करते हैं कि कोई भी जानकारी आप को दे तो उसे विस्तार से समझाया जाए ताकी इसके बारे में कही और से आप को जानकारी लेने की जरूरत ना पड़े

यदि आपको हमारी पोस्ट “शेयर मार्केट क्या है – A Complete Guide in Hindi” अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे

Leave a Comment

error: Content is protected !!