Dividend Kya Hota Hai ? What is Dividend in Share market in Hindi

Dividend Kya Hota Hai ? यह कितने प्रकार का होता है ? कंपनी डिविडेंड कब देती हैं ? कोई कंपनी Dividend देने का फैसला कैसे लेती है ? डिविडेंड पाने के लिए किसी कंपनी के शेयर कब खरीदे ? Dividend के क्या फायदे हैं ? डिविडेंड किस Account में मिलता है और यह कैसे पता करें कि अभी कौनसी कंपनी डिविडेंड देने वाली है ?

अगर आपको यह सब पता है तो अच्छी बात है यदि नहीं तो यह आर्टिकल आप ही के लिए है क्योंकि आज इस पोस्ट में शेयर मार्केट में Dividend Kya Hota Hai ? What is Dividend in Share market in Hindi विस्तार से बताने वाले हैं

Dividend Kya Hota Hai ? What is Dividend in Share market in Hindi

Dividend kya hota hai

अगर आप यह पूरी पोस्ट अच्छे से पढ़ लेते हैं तो आपको Dividend Related सारे सवालों के जवाब मिल जायेंगे और इसके बाद आपको Dividend के बारें में कहीं ओर से जानकारी लेने की जरूरत नही पड़ेगी तो चलिए अब सीधे टॉपिक पर आते हैं

शेयर मार्केट में Dividend क्या होता है ? इसे Point to point डिटेल से समझते हैं

1. Dividend क्या होता है ?

अगर आप किसी कंपनी में शेयर खरीद लेते हैं तो आप उस कंपनी के शेयरधारक यानी हिस्सेदार बन जाते हैं और फिर कंपनी जितना मुनाफा कमाती है उसी अनुपात में आपको भी फायदा होता है

सारे टैक्स, खर्चे और लागत काटकर कंपनी को जो शुद्ध लाभ होता है उसे कंपनी प्रति शेयर के हिसाब से अपने सारे शेयर धारकों में बांट देती है जिसे लाभांश यानी Dividend कहा जाता है

आपके पास जितने शेयर होते हैं आपको उसी अनुपात में डिविडेंड मिलता है अगर एक कंपनी Abc प्रति शेयर 5 रुपये का डिविडेंड का प्रदान करती है और आपके पास 100 Share हैं तो आपको 100×5 = 500/- रुपये डिविडेंड के रूप में मिलते हैं

2. Dividend Calculate कैसे होता है और किस हिसाब से मिलता है ?

डिविडेंड Face Value के हिसाब से मिलता है, शेयर का Current Market Price क्या है इससे डिविडेंड का कोई संबंध नहीं होता है अगर कोई कंपनी Abc 200% Dividend की घोषणा करती है जिसका CMP 600 रुपये और फेस वैल्यू 10 है तो इसका मतलब है आपको प्रति शेयर 10×200/100 = 20/- रुपये का डिविडेंड मिलेगा

3. Dividend कितने प्रकार का होता है ?

एक वर्ष में कंपनी आपको कितने बार डिविडेंड देती है इस आधार पर Dividend दो प्रकार का होता है

#1 Final Dividend

जब कंपनी अपने वित्तीय वर्ष के पूरा होने पर साल के अंत में Annual Dividend देने की घोषणा करती है तो इसे Final Dividend कहा जाता है

#2 Interim Dividend

अगर कोई कंपनी अपना फाइनेंशियल ईयर पूरा होने से पहले ही साल के बीच मे डिविडेंड प्रदान करती है तो इसे Interim Dividend कहा जाता है कुछ बड़ी कंपनियां इस प्रकार से भी डिविडेंड देती है

4. Dividend कितने प्रकार से दिया जाता है ?

किसी कंपनी के द्वारा डिविडेंड मुख्य रूप से दो प्रकार से दिया जाता है

#1 Cash Dividend

जब कंपनी प्रति शेयर के हिसाब से नकदी में डिविडेंड का भुगतान करती है तो इसे Cash Dividend कहा जाता है

प्रति शेयर जितने रुपये का कैश डिविडेंड कंपनी प्रदान करती है तो Ex Dividend date तक उसके बराबर राशि की गिरावट कंपनी के वर्तमान शेयर प्राइस में हो सकती है जैसे उदाहरण के तौर पर मान लेते हैं अगर Wipro 5 Rupay Per Share Dividend का ऐलान करती है और आज इसका शेयर प्राइस 380 रुपये है तो एक्स डिविडेंड डेट पर इसका शेयर प्राइस 375 रुपये हो जाएगा क्योंकि अब कंपनी के पास प्रति शेयर 5 रुपये नहीं बचे हैं

#2 Bonus Share

कई बार कंपनी अपने शेयर धारकों को सीधे कैश ना देकर डिविडेंड के रूप बोनस शेयर बोनस शेयर देती है जिसे Bonus Share Dividend कहा जाता है बोनस शेयर एक विशेष अनुपात में इशू किये जाते हैं जैसे 1:1 1:2 2:1 आदि

अगर कोई कंपनी 1:1 में Bonus Share Dividend Issue करती है तो इसका मतलब है अगर आपके पास इस कंपनी के पहले से 100 शेयर हैं तो डिविडेंड देने के बाद आपके पास 200 शेयर जाएंगे लेकिन ऐसा करने से आपके निवेश की राशि नहीं बढ़ती है क्योंकि जिस अनुपात में आपको बोनस शेयर मिलते हैं उसी अनुपात में शेयर का प्राइस भी कम हो जाता है

जैसे अगर एक कंपनी Abc 1:1 में अपने शेयर धारकों को बोनस शेयर इशू करती है जिसका Current market price 200 रुपये है और आपके इस कंपनी के 100 शेयर है जिसकी कुल वैल्यू अभी 20,000 रुपये है तो बोनस शेयर इशू होने के बाद आपके पास 1:1 के हिसाब से कुल 200 शेयर हो जाएंगे लेकिन कंपनी का CMP 200 के बजाय 100 रुपये हो जाएगा और आपके Shares की कुल वैल्यू पहले के बराबर 20,000 रुपये ही रहती है

अब एक बात आपके दिमाग में जरूर आई होगी कि बोनस शेयर से शेयर धारकों को क्या फायदा मिलता है क्योंकि शेयर का भाव तो उसी अनुपात में कम हो जाता है

तो देखिए जब कंपनी डिविडेंड के रूप में Bonus Share Issue करती है तो आपके पास शेयरों की संख्या बढ़ जाती है और कंपनी की Face Value पर कोई फर्क नहीं पड़ता है जिससे अगर बाद में कभी यह कंपनी कैश डिविडेंड देती है तो आपको पहले के बजाय ज्यादा डिविडेंड मिलेगा

जबकि Stock Split में ऐसा नहीं होता है क्योंकि इसमें जिस अनुपात में कंपनी अपने Share Split करती है उसी अनुपात में उसकी Face Value भी कम हो जाती है

कंपनी Bonus Share दो कारण से Issue करती है

  1. कई बार शेयर का भाव बहुत अधिक बढ़ जाता है जिससे आम निवेशकों के लिए इसे खरीद पाना मुश्किल हो जाता है और ऐसा करने से शेयर का भाव कम हो जाता है जिससे आम लोगों के लिए इसे खरीद पाना आसान हो जाता है
  2. ऐसा करने से मार्केट में कंपनी के शेयरों की संख्या बढ़ जाती है जिससे Liquidity बढ़ जाती है

5. Dividend किस बैंक अकाउंट में आता है ?

आपके डीमैट अकाउंट के साथ जो बैंक अकाउंट लिंक होता है उसी Bank Account में आपको डिविडेंड राशि क्रेडिट हो जाती है जैसे मेरा Demat Account, SBI Bank के साथ Linked है अतः मुझे जो भी डिविडेंड धनराशि मिलती है वह मेरे एस बी आई के बैंक अकाउंट में क्रेडिट हो जाती है

6. कैसे पता करें कि अभी कौनसी कंपनी डिविडेंड देने वाली हैं

अगर आपको किसी Individual Company के बारें में पता करना है कि अमुक कंपनी डिविडेंड कब देगी तो यह आप उसकी ऑफिसियल वेबसाइट पर पता कर सकते हैं

लेकिन उन सारी कंपनियों के बारे के पता करना हो Which Companies are going to give dividend तो आप Moneycontrol से पता कर सकते हैं जिसका लिंक नीचे दे रहे हैं

Money Control Link

#7 Dividend पाने के लिए शेयर कब खरीदें ?

अगर आप यह पता कर लेते हैं कि अभी एक कंपनी Abc डिविडेंड देने वाली है तो फिर बात आती है कि इस कंपनी के शेयर कब खरीदें ताकि आपको डिविडेंड मिल सके

जब कोई कंपनी Dividend देने की घोषणा करती है तो आपको तुरंत ही डिविडेंड नहीं मिल जाता है बल्कि कंपनी द्वारा डिविडेंड देने की घोषणा से लेकर आपके बैंक अकाउंट में अंतिम रूप से डिविडेंड क्रेडिट करने के बीच चार प्रमुख तारीख होती हैं जो इस प्रकार हैं

  1. Dividend Declaration Date – यह वो Date होती है जिस दिन कंपनी अपने शेयर धारकों को डिविडेंड देने की घोषणा करती है
  2. Ex-Dividend Date – यह वो Date होती है जिस दिन या इससे पहले आपको Stock खरीदना होता है, अगर आप इस डेट के बाद शेयर खरीदते हैं तो आपको डिविडेंड नहीं मिलेगा
  3. Record Date – यह वो Date होती है जिस दिन कंपनी अपने Record Check करती है और यह देखती है किन किन व्यक्तियों के पास इस कंपनी के शेयर हैं, जिन डीमैट धारकों का नाम इस रिकॉर्ड में होता है बस वे ही Dividend पाने के हकदार होते हैं
  4. Date of Dividend or Payment – यह वो Date होती है जिस दिन कंपनी द्वारा वास्तव में शेयर धारकों को डिविडेंड का पेमेंट कर दिया जाता है

अतः अगर आप डिविडेंड पाने के लिए किसी कंपनी के शेयर खरीदना चाहते हैं तो आपको Ex Dividend Date वाले दिन या इससे पहले शेयर खरीदने होंगे

अगर इसे और अच्छे से स्पष्ट किया जाए तो कह सकते हैं कि अगर आप डिविडेंड पाने के लिए किसी कंपनी के शेयर खरीदना चाहते हैं तो Record Date से कम से कम 02 Business Days पहले खरीदे नहीं तो ऐसा भी हो सकता है कि आप Ex Dividend Date को शेयर खरीदते हैं पर फिर भी आपको डिविडेंड नहीं मिलेगा

क्योंकि इंडिया में T+2 Days Settlement System फॉलो किया जाता है जिसके अनुसार अगर आप Monday को Shares खरीदते हैं तो इस सिस्टम के अनुसार वे आपके डीमैट अकाउंट में 2 दिन बाद Thursday को आते है

उदाहरण के लिए अगर किसी कंपनी की Ex Dividend Date 08 Feb (Friday) है और Record Date 11 Feb (Monady) है तो आपको डिविडेंड पाने के लिए शेयर 06 Feb या इससे पहले खरीदने होंगे

8. Dividend देने का फैसला कौन करता है ?

कोई भी कंपनी डिविडेंड देने के लिए कानूनी रूप से बाध्य नहीं होती है यह पूरी तरह से उस कंपनी पर निर्भर करता है कि डिविडेंड देना है या नहीं देना, अगर देना है तो कितना देना है और यह सब कंपनी की Annual General Meeting में Board Of Directors द्वारा निर्धारित किया जाता है

ऐसी कंपनिया जो Share Market में Newly Listed होती है या फिर इस पॉलिसी पर काम करती है कि कंपनी को जो लाभ होगा उसे वापिस बिजनेस में लगाया जाएगा तो ऐसी कंपनिया डिविडेंड नहीं देती है

9. Dividend के क्या फायदे हैं ?

Dividend के प्रमुख फायदे निम्न प्रकार हैं

  1. Dividend एक Tax Free Income होता है अतः अगर आपको किसी स्टॉक/शेयर और म्यूच्यूअल फंड्स आदि से डिविडेंड मिलता है तो उस पर टैक्स नहीं देना होता है क्योंकि सारे टैक्स भरने के बाद ही कंपनी लाभांश यानी डिविडेंड प्रदान करती है
  2. कंपनी के शेयर के बाजार भाव से डिविडेंड का कोई संबंध नहीं होता है अगर कंपनी डिविडेंड देना चाहती है तो वह Face Value पर डिविडेंड दे सकती है
  3. डिविडेंड एक Passive Imcome होती है जिसके लिए आपको कुछ अलग से करने की आवश्यकता नहीं होती है, बस एक बार अगर आप Share खरीद कर रख लेते हैं तो आपको डिविडेंड मिलता रहता है
  4. Dividend एक निश्चित आय स्रोत होता है क्योंकि सभी बड़ी बड़ी कंपनियां एक निश्चित समय पर डिविडेंड देती रहती है
  5. डिविडेंड से आपको 1 से 3 % तक वार्षिक आय हो जाती है

डिविडेंड से संबंधित सवाल जवाब (Dividend Related FAQs)

Dividend से संबंधित प्रमुख सवाल और उनके जवाब निम्न प्रकार हैं जो आपको Dividend Kya Hota Hai ? इसे अच्छे से समझने और डिविडेंड संबंधित डाउट दूर करने में मददगार हैं

Q1. अगर एक कंपनी को किसी वर्ष नुकसान हो जाता है तो क्या वह Dividend दे सकती है ?

अगर कंपनी ने किसी वर्ष लाभ अर्जित नहीं किया है तो ऐसे तो कंपनी उस वर्ष लाभांश देने की स्थिति में नहीं है लेकिन वह चाहे तो पिछले साल हुए प्रॉफिट में से डिविडेंड दे सकती है

Q2. अगर एक कंपनी लगातार डिविडेंड दे रही है तो इसका क्या मतलब है ?

इसका मतलब है कंपनी लगातार मुनाफा कमा रही है और फाइनेंशियली मजबूत स्थिति में है

Q3. कंपनी डिविडेंड क्यों देती हैं ?

यह दर्शाने कि कंपनी अच्छा खासा लाभ कमा रही है और इसके साथ ही इससे निवेशक पुरस्कृत होते हैं और कंपनी पर उनका विश्वास भी बढ़ता है

Q4. किसी कंपनी से डिविडेंड पाने के लिए शेयर कब खरीदे ?

अगर आप कंपनी की Dividend Record Date के 02 Business days पहले शेयर खरीद लेते हैं तो आप डिविडेंड पाने के हकदार होते हैं

Q5. मेरे पास पिछले दो वर्ष से एक कंपनी के शेयर हैं लेकिन अभी तक कोई डिविडेंड नहीं मिला है क्या करें ?

जब किसी कंपनी को प्रॉफिट होता है तो वह उसे वापिस अपने बिजनेस में लगा देती है ताकि कंपनी और बड़ी और मजबूत हो जाये जिससे उसका शेयर प्राइस भी बढ़ जाता है और चाहे तो वह प्रॉफिट का कुछ हिस्सा डिविडेंड के रूप में भी अपने शेयर धारकों को बांट सकती है लेकिन कोई भी कंपनी डिविडेंड देने के लिए कानूनी रूप से बाध्य नहीं है अतः जरूरी नहीं है कि वह कंपनी आपको आवश्यक रूप से डिविडेंड दे ही और वैसे भी शेयर इसलिए खरीदते हैं कि उसका भाव बढ़े और आपको मुनाफा हो

Conclusion

अगर आप किसी कंपनी के शेयर खरीद लेते हैं तो आप भी उस कंपनी में हिस्सेदार बन जाते हैं और जब कंपनी को प्रॉफिट होता है तो प्रॉफिट का कुछ हिस्सा अपने शेयर धारकों में बांट देती है जिसे डिविडेंड कहा जाता है और

इस आर्टिकल में Dividend Kya Hota Hai ? यह कितने प्रकार का होता है ? कंपनी डिविडेंड कब देती हैं ? कोई कंपनी Dividend देने का फैसला कैसे लेती है ? डिविडेंड पाने के लिए किसी कंपनी के शेयर कब खरीदे ? Dividend के क्या फायदे हैं ? डिविडेंड किस Account में मिलता है और यह कैसे पता करें कि अभी कौनसी कंपनी डिविडेंड देने वाली है ? यह सब विस्तार से बताया गया है

अगर आपके मन में डिविडेंड से संबंधित अभी भी कुछ डाउट है तो बेझिझक कमेंट में पूछ सकते हैं यदि आपको हमारी यह पोस्ट Dividend Kya Hota Hai ? What is Dividend in Share market in Hindi अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें

2 thoughts on “Dividend Kya Hota Hai ? What is Dividend in Share market in Hindi”

Leave a Comment

error: Content is protected !!