What is Nifty in Hindi पूरी जानकारी । Sensex or Nifty क्या है

What is Nifty in Hindi और Nifty 50 के क्या फायदे हैं Nifty क्या है , Sensex or Nifty में क्या अंतर है Nifty 50 से क्या पता चलता है

आये दिन आप Tv और अखबारों में Share market लाइव अपडेट में आज बाजार गिरा Nifty 100 अंक टूटा , शेयर बाजार में फिर से बढ़त Nifty 50 में 200 अंक का उछाल What is Nifty in hindi

आखिर ये Share market or Nifty चढ़ता गिरता कैसे है Nifty से हमें क्या पता चलता है Nifty सेंसेक्स से अलग कैसे है देश के विकास Economy or Nifty कैसे काम करती हैं Nifty Option Chain क्या है

ये सब बाते इस पोस्ट में विस्तार से समझाएंगे तो अब बिना किसी देरी के शुरू करते हैं

फुल आर्टिकल एक नजर में

What is Nifty in hindi – Nifty क्या है

Nifty अंग्रेजी के दो शब्दों National और Fifty से मिलकर बना है National शब्द का N और Fifty शब्द का ifty लेकर Nifty शब्द का निर्माण किया गया है

निफ़्टी Nifty में 50 पचास कंपनिया होती है इसलिए Nifty को Nifty 50 भी कहा जाता है

Nifty meaning in Hindi

Nifty में हमारे देश की सबसे बड़ी और बेहतरीन Top 50 Comapnies होती हैं Nifty का हिंदी में अलग से कोई नाम नही है इसे हिंदी में भी निफ़्टी ही कहा जाता है Nifty को यदि इसके अर्थ और meaning की दृष्टि से देखा जाए तो What is Nifty in hindi

Nifty or Nifty 50 में कोई अंतर नही है बस इसमे पचास कंपनिया होने के कारण इसे Nifty 50 कह दिया जाता है अतः इस प्रकार Nifty 50 या फिर Nifty का मतलब होता है देश की सबसे बेहतरीन 50 कंपनिया

Nifty कैसे बनता है

जब हमें किसी कंपनी के शेयर खरीदने होते हैं तो हम सीधे कंपनी से शेयर नही सकते हैं इसके लिए Stock Exchange बनाये गए हैं जहां आप स्टॉक एक्सचेंज पर listed किसी भी कंपनी के शेयर खरीद और बेच सकते हैं

Stock exchange पर लिस्ट होने से पहले कंपनी को IPO लाना होता है जिसमें कंपनी किस फील्ड में क्या बिजनेस करती है सारी जानकारी होती है

किसी भी IPO के सेबी SEBI से Approved होने के बाद ही वह कंपनी Stock exchange पर लिस्ट हो पाती है

IPO क्या है पूरी जानकारी । IPO से पैसे कैसे कमाए

हमारे देश मे दो प्रमुख Stock Exchange हैं

# 1. Bombay stock exchange – इसे BSE भी कहा जाता है bse पर देश की लगभग 6000 कंपनिया listed हैं

# 2. National stock exchange – इसे NSE भी कहा जाता है nse पर देश की लगभग 1600 कंपनिया listed हैं

अब बात करते हैं Nifty बनता कैसे है तो देखिये इसके लिए National stock exchange पर listed 1600 कंपनियो में से 50 कंपनियो को चुना जाता है और इसका प्रबंधन India Index Services and Products Limited (IISL) द्वारा किया जाता है इसके लिए What is Nifty in hindi

ये कंपनियां देश की सबसे बड़ी और बेहतरीन कंपनिया होती है जिनका Market cap यानी कुल वैल्यू नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की अन्य सभी कंपनियो के मुकाबले 60 % होता है

इसके लिए 13 अलग अलग Sector से कंपनियों को चुना जाता है और ये सभी कंपनिया अपने अपने Sector की सबसे बड़ी कंपनी होती हैं अपने अपने Sector का प्रतिनिधित्व करती हैं

Nifty मे कंपनी किस आधार पर शामिल की जाती हैं

जिस प्रकार Sensex में 30 कंपनियों का चुनाव किया जाता है उसी प्रकार Nifty में 50 कंपनिया शामिल की जाती हैं दोनों के लिए मानदंड एक जैसे ही हैं

National stock exchange की सूचकांक समिति द्वारा IISL के प्रबंधन में जाने माने अर्थशास्त्रियों द्वारा Nifty में 50 कंपनी शामिल करने के लिए जिन बातों का ध्यान रखा जाता है प्रमुख इस प्रकार से हैं What is Nifty in hindi

  1. किसी कंपनी के Nifty में शामिल होने के लिए यह आवश्यक होता है कि वह कंपनी पिछले 1 साल से National stock exchange NSE पर लिस्टेड होने चाहिए
  2. पिछले 1 साल में जितने भी दिन Share market खुला है उन सभी ट्रेडिंग दिनों में उस कंपनी के शेयर खरीदे और बेचे जाने चाहिए यानी उन सभी दिनों में उस कंपनी में ट्रेडिंग होनी जरूरी होती है
  3. जिस कंपनी के शेयर में F & O ट्रेडिंग फ्यूचर और ऑप्शन Future and Option trading की इजाजत होती है केवल वे ही कंपनी Nifty में शामिल होने के योग्य होती हैं

शेयर मार्केट में Future और Option trading क्या होती है Call और Put option कैसे खरीदे और बेचे

Nifty से क्या पता चलता है – What indicates Nifty

What is Nifty in hindi

जब सरकार को महंगाई पता करनी होती है तो वह दैनिक आवश्यकता की कुछ जरूरी चीजें जैसे दाल चावल चीनी पेट्रोल आलू आदि बढ़ी हुई कीमतों के औसत निकालती है जिससे इस बात का पता चल जाता है कि इन चीज़ों के भाव पहले की अपेक्षा कितने बढ़ गए हैं अर्थात महँगाई कितनी कम या ज्यादा हुई है

और यह मान लिया जाता है बाकी सभी चीजों में भी महँगाई इसी अनुपात में बढ़ी है What is Nifty in hindi

ठीक इसी प्रकार शेयर बाजार में क्या चल रहा है इसका पता करने के लिए देश की सबसे बेहतरीन 50 कंपनियो के शेयर प्राइस का औसत निकाल लिया जाता है और यह मान लिया जाता है कि बाकी सभी कंपनीया भी इसी प्रकार से Perform कर रही है

तो इस प्रकार जब Nifty ऊपर जाता है यानी बढ़ जाता है तो हमें इस बात का पता चलता है कि Share Market भी अच्छा चल रहा है यानी अन्य सभी कंपनिया भी अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं उन्हें मुनाफा हो रहा है

और जब Nifty नीचे जाता है यानी गिर जाता है तो इस बात का पता चलता है कि अभी Share Market में भी मंदी है यानी बाकी और कंपनिया भी नुकसान में हैं और अच्छा Perform नही कर रही हैं

Nifty कम ज्यादा कैसे होता है

जब Nifty की कंपनियों की Performance अच्छी होती है तो इन कंपनियो के शेयर प्राइस बढ़ जाते हैं और जब Nifty Companies के शेयर प्राइस बढ़ते हैं तो Nifty भी ऊपर जाता है यानी nifty बढ़ जाता है

और जब Nifty की कंपनियों की Performance खराब रहती है यानी नुकसान में रहती हैं तो इनके शेयर का भाव कम हो जाता है और जब Nifty कंपनियों का शेयर प्राइस नीचे चला जाता है यानी कम हो जाता है तो Nifty भी गिर जाता है यानी घट जाता है

कुछ प्रमुख कारण इस प्रकार हैं जो Nifty को प्रभावित करते हैं जिनके कारण Nifty कम ज्यादा होता है What is Nifty in hindi

# 1. Nifty कंपनियों के Quarterly रिजल्ट

जब Nifty कंपनियो के क्वार्टरली रिजल्ट अच्छे आते हैं यानी जब कंपनियो को फायदा होता है तो Nifty और शेयर मार्केट ऊपर जाता हैं

और जब nifty कंपनियो के क्वार्टरली रिजल्ट अच्छे नही होते हैं यानी जब कंपनियो को नुकसान हो जाता है तो Nifty में गिरावट आती है

# 2. बाजार खबर

जब बाज़ार में कोई ऐसी खबर आती है जो कंपनियो के फायदे वाली होती है तो Nifty और शेयर बाज़ार में बढ़ोतरी आती है

इसके विपरीत यानी जब बाज़ार में कोई यदि खबर आ जाती है जिससे कंपनियो को नुकसान हो सकता है तो Nifty के गिरने के चांसेस होते हैं

# 3. मानसून

अच्छे मानसून और बारिश से कंपनियो का कारोबार और व्यापार में मुनाफा होने के चांसेस होते हैं जिससे Nifty ऊपर जाता है

और इसके विपरीत खराब मानसून के अंदाजे से Nifty में गिरावट आती है

# 4. देश और विदेश की घटनाएं

दो देशों के बीच Trade war (क्रय विक्रय टैक्स) और युद्ध के हालात जैसी घटनाएं भी शेयर बाज़ार और Nifty को बहुत प्रभावित करती है

# 5. विश्वव्यापी महामारी

जब पूरे विश्व भर में ऐसी कोई महामारी फैल जाती है जिसका प्रभाव कंपनियों के उत्पादन पर पड़ता है जैसे फिलहाल Covid -19 नामक महामारी पूरी दुनियाभर में कोहराम मचाये हुए हैं

ऐसी किसी महामारी से शेयर बाजार बुरी तरह से Impact होता है और Nifty बहुत ज्यादा गिर जाता है कोरोना impact से Nifty अपने 52 Week high 12400 से 7500 तक गिर गया था

# 6. चुनाव और सरकार

हर सरकार अपने हिसाब से अलग नीतियां बनाती है और अलग फैसले लेती हैं इसलिए लोकसभा और राज्यसभा चुनाव के समय शेयर बाजार काफी प्रभावित होता है – What is Nifty in hindi

इस प्रकार नई सरकार को शेयर बाजार जिस हिसाब से देखता है Nifty भी उसी प्रकार से प्रभावित होता है यदि नई सरकार को शेयर बाज़ार सकारात्मक रूप से देखता है तो Nifty ऊपर जाता है और यदि शेयर बाजार इसे नकारात्मक रूप से देखता है तो Nifty गिर जाता है

Nifty और Sensex में क्या अंतर है

वैसे तो Nifty और Sensex दोनों ही Share Market के सूचकांक हैं और दोनों ही से इस बात का पता चलता है कि अभी Share market में क्या चल रहा है

जब Sensex और Nifty दोनों ही ऊपर जाते हैं तो इसका मतलब होता है कि अभी Share Market में तेजी है यानी अभी शेयर बाजार Bullish है और अच्छा चल रहा है

और जब Nifty or Sensex नीचे जाते हैं यानी गिर जाते हैं तो इसका मतलब होता है कि अभी Share Market में मंदी है यानी अभी शेयर मार्केट Bearish है कंपनिया अच्छा प्रदर्शन नही कर रही है

लेकिन फिर भी Nifty और Sensex में प्रमुख अंतर इस प्रकार हैं

  1. Nifty – National Stock exchange से संबंधित और Sensex – Bombay Stock exchange से संबंधित है
  2. Nifty – नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक है और Sensex बोम्बे स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक है
  3. Nifty में 50 कंपनिया होती है जबकि Sensex में 30 कंपनिया होती है
  4. Nifty का Base year 1995 है और Sensex का Base year 1986 है
  5. Nifty बेस प्राइस यानी Base value 1000 है और Sensex की Base value 100 है

Nifty के क्या फायदे हैं

निफ्टी में देश की सबसे बेहतरीन और सबसे बड़ी 50 कंपनिया होती हैं निफ्टी से देश की अर्थव्यवस्था और निवेशकों को होने वाले प्रमुख फायदे इस प्रकार हैं What is Nifty in hindi

ये भी पढ़े

Pe ratio क्या होता है शेयर बाजार में अच्छे शेयर कैसे खरीदे

Earning Per Share – EPS क्या है। eps से अच्छे शेयर कैसे पहचाने

Mutual fund में निवेश के 20 फायदे । पैसा हो जाता है दोगुना-चौगुना

Youtube से पैसे कैसे कमाते हैं – 10 बेहतरीन तरीके

बिजनेस में सफलता प्राप्त कैसे करे – बेहतरीन 25 तरीक़े

# 1. शेयर बाज़ार में पैसा उचित ढंग से निवेश कर सकते हैं

जब Nifty में गिरावट आती है तो शेयर मार्केट में भी गिरावट आ जाती है और यदि Nifty ऊपर जाता है तो शेयर बाज़ार भी ऊपर जाता है

अतः इस प्रकार निफ़्टी के ट्रेंड को देखकर आप शेयर बाज़ार में अपने पैसे उचित ढंग से निवेश कर सकते हैं

# 2. लोगों को रोजगार मिलता है

जब Nifty और शेयर बाजार अच्छा परफॉर्म करता है तो शेयर बाज़ार में निवेश की मात्रा भी बढ़ जाती है जिससे कंपनियो को ज्यादा धन की प्राप्ति होती है

जिससे वे अपने Business को और बड़ा करती है जिससे और ज्यादा लोगो को रोजगार मिल जाता है

# 3. Nifty के बढ़ने से रुपिये में मजबूती आती है

जब देश मे सब अच्छा चलता है हर जगह विकास होता रहता है और कंपनिया अच्छा मुनाफा कमाती है तो हमारे देश के साथ ही अन्य दूसरे देश के निवेशक भी हमारे देश के शेयर बाज़ार में निवेश करते हैं

इस प्रकार दूसरे देशों के निवेश करने से दूसरे देशों की मुद्रा Doller आदि हमारे देश मे आती है जिससे रुपिये में मजबूती आती है

# 4. महंगाई कम होती है

रुपिये के मजबूत होने से उसकी Value पहले की अपेक्षा बढ़ जाती है जिससे आप पहले की तुलना में ज्यादा वस्तुएं खरीद सकते हैं यानी आपकी क्रय शक्ति बढ़ जाती है

अतः इस प्रकार Nifty में बढ़ोतरी से देश मे वस्तुओं की कीमत में कमी आती है

Nifty की पिछले 20 वर्षों में Growth

What is Nifty in hindi

जब देश की कंपनिया अच्छा Perform करती हैं अच्छा कारोबार और उत्पादन करती हैं और मुनाफा कमाती हैं तो ज्यादा लोगो को रोजगार प्राप्त होता है और साथ ही इनके Capital gain से सरकार को ज्यादा मात्रा में टैक्स प्राप्त होता है जिससे देश की अर्थव्यवस्था भी मजबूत होती है

पिछले 20 वर्षों में Nifty ने लगभग 600 प्रतिशत का Return दिया है जो हमारे देश के लिए बहुत अच्छी बात है What is Nifty in hindi

और हम आशा करते हैं कि Nifty आने वाले समय फ्यूचर में भी दिन दूनी रात चौगुनी बढ़ती ही जाए जिससे देश के निवेशक ज्यादा से ज्यादा earnings कमाई कर सके और हमारा देश विकसित देशों की श्रेणी में शामिल हो सके

Nifty में Option और future trading

Nifty में शामिल होने के पात्र वे ही कंपनिया होती हैं जिनमें Future and Option trading फ्यूचर और ऑप्शन ट्रेडिंग की इजाजत होती है

हम Share Market में तीन प्रकार से शेयर खरीद सकते हैं 1. Cash 2. Option और 3.Future

कैश में आपके पास जितना रुपिया होता है बस उतने ही रुपिये के शेयर खरीद सकते हैं लेकिन Option or Future में ऐसा नही है option और future में आपको मार्जिन सुविधा मिलती है What is Nifty in hindi

जिसमें आपको शेयर की कुल वैल्यू का 10 से 12 प्रतिशत ही भुगतान करना होता है यानी अगर आपके पास 10,000 रुपिये हैं और HDFC BANK का शेयर प्राइस 1000 रुपिये है तो आप Cash में HDFC BANK के 10 शेयर ही खरीद सकते हैं लेकिन फ्यूचर और ऑप्शन में आप 100 शेयर यानी 10,0000 एक लाख रुपिये का माल खरीद सकते हैं

Option में जितने चाहे उतने शेयर नही खरीद सकते हैं बल्कि इसमें शेयर लॉट में खरीदने होते हैं शेयर प्राइस के आधार पर अलग अलग कंपनी के शेयर का लॉट साइज अलग अलग होता है

Nifty में option trading कैसे करते हैं लॉट साइज क्या होता है Call और Put ऑप्शन क्या होता है Nifty की Option Chain क्या होती है Future or Option में क्या फर्क होता है इसे Detail में समझने के लिए आप हमारी ये पोस्ट पढ़ सकते हैं

Option ओर Future ट्रेडिंग क्या है | Option ट्रेडिंग से अपने पोर्टफोलियो की सुरक्षा कैसे करे

Nifty option Chain

What is nifty in hindiम्यूच्यूअल फण्ड , घरेलू संस्थागत निवेशक – DII और विदेशी संस्थागत निवेशक – FII निफ्टी Nifty में बहुत बड़ी Amount धनराशि के साथ शेयर बाज़ार में ट्रेडिंग करते हैं

इनका शेयर बाज़ार में बड़ी मात्रा में निवेश किया हुआ होता है और What is Nifty in hindi

जब उन्हें Share Market में गिरावट की आशंका होती है तो वे अपनी Position को Short कर देते हैं

इन बड़े निवेशकों और ट्रेडरों की फिलहाल शेयर बाज़ार के प्रति क्या प्रतिक्रिया है इसे हम Nifty की ऑप्शन चैन Option chain से आसानी से समझ सकते हैं

और फिर इनके हिसाब से अपनी पोजीशन ले सकते हैं और Invest कर सकते हैं

Nifty में अभी 50 कंपनी कौनसी हैं

समय समय पर अपनी Performance के आधार पर कंपनिया Nifty के अंदर बाहर होती रहती हैं फिलहाल Nifty में देश की सबसे बेहतरीन जो 50 कंपनिया हैं वे इस प्रकार हैं

  1. BAJAJ FINANCE
  2. INDUSIND BANK
  3. ICICI BANK
  4. INFOSYS
  5. BAJAJ FINSERV
  6. ZEEL
  7. AXIS BANK
  8. ASIAN PAINT
  9. MARUTI SUZUKI
  10. BRITANNIA
  11. WIPRO
  12. EICHER MOTOR
  13. HDFC
  14. SUN PHARMA
  15. TECH MAHINDRA
  16. TATA MOTORS
  17. NESTLE IND
  18. HDFC BANK
  19. CIPLA
  20. TITAN
  21. HCL TECH
  22. HINDUSTAN UNILIVER LTD
  23. KOTAK BANK
  24. GAIL
  25. STATE BANK OF INDIA
  26. L&T
  27. HINDALCO
  28. TCS
  29. JSW STEEL
  30. BHARTI AIRTEL
  31. HERO MOTORCORP
  32. SHREE CEMENT
  33. UPL
  34. DR REDDY
  35. BAJAJ AUTO
  36. INFRATEL
  37. ONGC
  38. IOC
  39. RELIANCE INDUSTRIES
  40. COAL INDIA
  41. ULTRA TECH CEMENT
  42. VEDANTA LTD
  43. NTPC
  44. TATA STEEL
  45. POWER GRID
  46. ITC
  47. BPCL
  48. GRASIM
  49. M&M
  50. ADANI PORTS

What is Nifty in hindi

Nifty 50 से कौन ज्यादा प्रभावित होता है

Nifty से जो सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं उनमें प्रमुख इस प्रकार हैं

# 1. Mutual fund

शेयर बाज़ार में म्यूच्यूअल फंड्स बहुत बड़ी Amount के साथ निवेश करते हैं और जब किसी कारणवश Share Market में भारी गिरावट आ जाती हैं तो लोग पैनिक हो जाते हैं mutual fund से Exit मारने लगते हैं

जिससे न चाहते हुए भी म्यूच्यूअल फण्ड को शेयर बाज़ार से पैसा exit करके निवेशकों को देना होता है जिससे कई बार म्यूच्यूअल फंड्स को भारी नुकसान उठाना पड़ता है

# 2. DII और FII

Domestic Institutional Investors – घरेलू संस्थागत निवेशक और Foreign Institutional Investors – विदेशी संस्थागत निवेशक भी शेयर बाजार में भारी मात्रा के साथ निवेश करते हैं

FII और DII Nifty में F&O segment फ्यूचर और ऑप्शन में भारी मात्रा में ट्रेडिंग करते हैं – What is Nifty in hindi

Nifty और Share Market की चाल से FII और DII ही सबसे ज्यादा प्रभावित होते एक तरह से Nifty or Share Market के असली खिलाडी यही होते हैं

# 3. Retail Investors

रिटेल निवेशक यानी आप और मैं Retail investors का शेयर बाज़ार में बहुत कम मात्रा में पैसा लगा होता है और जब Share market or Nifty में उतार चढ़ाव आते हैं तो छोटे निवेशक भी इससे प्रभावित होते हैं What is Nifty in hindi

Conclusion – What is Nifty in hindi

संक्षेप में हम कह सकते हैं कि जिस प्रकार डॉक्टर थर्मामीटर से हमारे शरीर का तापमान पता कर लेते हैं और बता देते हैं कि हमें कितना कम ज्यादा बुखार है – What is Nifty in hindi

ठीक उसी प्रकार Nifty से हमे Share Market की स्थिति का पता चल जाता है फिलहाल शेयर बाज़ार में क्या चल रहा है और देश की कंपनिया कैसा Perform कर रही है वे कितने कम ज्यादा मुनाफे या नुकसान में हैं

आशा करते हैं आपको Nifty kya hai पूरी जानकारी Nifty क्या है और Nifty कैसे काम करती है तथा Nifty और Share Market में क्या संबंध है और Nifty के क्या फायदे हैं ? what is nifty in hindi अच्छे से समझ आ गया होगा

यदि आपको हमारी पोस्ट What is Nifty in hindi पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों और परिवार वालो के साथ अभी शेयर करें जिससे वे भी जान सके कि Nifty क्या है और Sensex और Nifty में क्या अंतर है जिससे वे भी Share Market में ठीक प्रकार से निवेश कर सके

Leave a Comment

error: Content is protected !!