ज़ेरोधा में ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें ? Zerodha Me Option Trading Kaise Kare

Zerodha Me Option Trading Kaise Kare ? अगर आपका डीमैट अकाउंट ज़ेरोधा में है और ऑप्शन ट्रेडिंग करना चाहते हैं लेकिन पता नहीं है कि ज़ेरोधा में ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करते हैं तो यह पोस्ट आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है

ज़ेरोधा में किसी भी पर्टिकुलर स्टॉक, इंडेक्स और करेंसी जैसे Infosys, HDFC Bank, Nifty, Bank Nifty, USD INR, GBP INR आदि में ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करते हैं ? कॉल ऑप्शन क्या होते हैं ? पुट ऑप्शन क्या होते हैं ? Call & Put Option को खरीदते और बेचते कैसे हैं ? प्रीमियम जीरो कब और कैसे हो जाता है यह सब विस्तार से उदाहरण सहित बताने वाले हैं

ज़ेरोधा में ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें ?(Zerodha Me Option Trading Kaise Kare)

Zerodha me option trading kaise kare

किसी स्टॉक, इंडेक्स और करेंसी में ज़ेरोधा में ऑप्शन ट्रेडिंग करने का प्रोसेस स्टेप टू स्टेप इस प्रकार है

F&O एक्टिवेट करें

जब आप ज़ेरोधा में एक नया डीमैट अकाउंट खोलते हैं तो उसमें ऑप्शन सेगमेंट पहले से एक्टिवेट नहीं होता है अतः ज़ेरोधा में ऑप्शन ट्रेडिंग शुरू करने के लिए सबसे पहले Option Segment यानी F&O Activate करना पड़ता है

F&O एक्टिवेट करने के लिए अपने डीमैट अकाउंट को लॉग इन कर Zerodha support में जाकर “How to Activate F&O” सर्च करें और एक Ticket raise करे या फिर आप सीधे ज़ेरोधा कस्टमर केअर में कॉल करके भी एफ एंड ओ एक्टिवेट करा सकते हैं इसमें अधिकतम 24 घँटे का समय लगता है और फिर आप ज़ेरोधा मे आराम से ऑप्शन ट्रेडिंग कर सकते हैं

Call और Put ऑप्शन क्या होते हैं ? Options की Monthly Series क्या होती है ? Expiry date क्या होती है ? Premium क्या होता है ? ये Zero कब हो जाता है ? Lot Size क्या होता है ? Weekly expiry क्या होती है ? Put Option खरीद कर शेयर का बीमा कैसे करते हैं ? अगर ये सब आपको अच्छे से क्लियर नहीं है तो पहले ये पोस्ट जरूर पढ़ें

Zerodha Call and Put Explain in Hindi | A Complete guide

जब आप ज़ेरोधा में एक बार एफ एंड ओ एक्टिवेट कर लेते हैं तो फिर किसी भी स्टॉक, इंडेक्स और करेंसी में ऑप्शन ट्रेडिंग कर सकते हैं चलिये अब इन्हें एक एक करके उदाहरण सहित डिटेल से समझते हैं कि

  1. Stocks में Zerodha me option trading kaise kare ?
  2. Indices में Zerodha me option trading kaise kare ?
  3. Currencies में Zerodha me option trading kaise kare ?

#1 ज़ेरोधा में किसी स्टॉक में ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें ?

Zerodha me option trading kaise kare

ज़ेरोधा में किसी स्टॉक के कॉल और पुट ऑप्शन खरीदने और बेचने का प्रोसेस इस प्रकार है

स्टॉक का नाम सर्च करें

जिस स्टॉक में ऑप्शन ट्रेडिंग करना चाहते हैं उस स्टॉक का नाम ज़ेरोधा के Search box में सर्च करें उदाहरण के लिए मान लेते हैं कि आप Reliance में ऑप्शन ट्रेडिंग करना चाहते हैं तो रिलायंस का नाम सर्च करें

मंथली सीरीज सेलेक्ट करें

ऑप्शन में ट्रेड के लिए किसी भी स्टॉक की तीन महीनें तक कि Monthly series होती है मान लेते हैं अभी जनवरी चल रहा है तो इसका मतलब है आप रिलायंस के Jan, Feb और March सीरीज के ऑप्शन खरीद और बेच सकते हैं

उदाहरण के लिए रिलायंस के जनवरी सीरीज के ऑप्शन को RELIANCE JAN से व्यक्त किया जाता है

प्राइस लेवल का चयन करें

स्टॉक और मंथली सीरीज चूस कर लेने के बाद प्राइस लेवल का चयन करें

कॉल और पुट ऑप्शन का चयन कर वॉचलिस्ट लिस्ट में ऐड करें

जब लगता है कि किसी स्टॉक का भाव बढ़ने वाला है तो उसके कॉल ऑप्शन खरीद कर मुनाफा कमाया है और यदि लगता है कि भाव गिरने वाला है तो उसके पुट ऑप्शन खरीद कर मुनाफा कमाया जाता है चाहें तो कॉल और पुट के ऑप्शन बेच भी सकते हैं लेकिन इसके लिए ज्यादा मार्जिन की आवश्यकता होती है

स्टॉक्स में ऑप्शन ट्रेडिंग के लिए जब आप एक स्टॉक का चयन कर लेते हैं और मंथली सीरीज निर्धारित कर लेते हैं तो इसके बाद आपको कॉल और पुट ऑप्शन (CE & PE) का चयन कर + के निशान पर क्लिक कर अपनी Watchlist में Add करना होता है फिर आप इसकी खरीद बेच कर सकते हैं

Note : जब आप ऑप्शन ट्रेडिंग में कॉल और पुट के ऑप्शन खरीदते हैं तो आपके नुकसान की एक निश्चित सीमा होती है लेकिन फायदे की कोई सीमा नहीं होती है यानी आपको नुकसान तो अधिकतम उतना ही हो सकता है जितने प्रीमियम का कॉल या पुट ऑप्शन आप खरीदते हैं, लेकिन फायदा कितना भी हो सकता है यानी आपके खरीदे हुए कॉल और पुट ऑप्शन का प्रीमियम जितना ज्यादा बढ़ता है आपको उतना ही ज्यादा फायदा होता है और ऐसा माना जाता है कि 90% केस में ऑप्शन बेचने वाले ही फायदे में रहते हैं

खरीदने/बेचने का आर्डर प्लेस करें

CE/PE OPTION को वॉचलिस्ट में जोड़ लेने के बाद इसे खरीद और बेच सकते हैं इसके लिए बस आपको Buy or Sell Order Place करना पड़ता है

उदाहरण के लिए मान लेते अभी रिलायंस का शेयर प्राइस 2137 रुपये है और आपको लगता है कि अभी कुछ समय में इसका प्राइस बढ़ने वाला है तो आप इसके 2160 2180 2200 आदि कॉल ऑप्शन खरीद सकते है मान लेते हैं आप 2160 प्राइस वाला RELIANCE MAR 2160 CE का एक लॉट खरीदना चाहते हैं

ज़ेरोधा पर इस Call Option के Buying Order का Interface निम्न प्रकार दिखाई देता है

Zerodha me option trading kaise kare

जब आप RELIANCE MAR 2160 CE का Buy order Place करते हैं तो आपको कुछ Order details fill up करनी होती है जिसका प्रोसेस इस प्रकार है

  • Quantity – इसमें आपको कितने शेयर चाहिए उतनी संख्या में लॉट साइज के हिसाब से क्वांटिटी भरनी होती हैं ऑप्शन में ट्रेड के लिए रिलायंस का लॉट साइज 250 quantity का होता है उदाहरण के लिए मान लेते हैं आपको रिलायंस के 2 लॉट चाहिए तो आपको इसमें 2×250 = 500 quantity भरनी होंगी
  • Price – इसमें वह प्राइस भरना होता है जिस प्राइस पर आपको कॉल और पुट ऑप्शन खरीदना/बेचना चाहते हैं
  • NRML – इसका मतलब होता है Normal Product यदि आप NRML Mode में कोई कॉल या पुट ऑप्शन Buy/Sell करते हैं तो आपको मार्जिन नहीं मिलता और पूरे प्रीमियम का भुगतान करना होता है और NRML Call or Put Option को Expiry date तक Hold रख सकते हैं
  • MIS Product – Margin Intraday Square off जब आप MIS में कोई कॉल या पुट ऑप्शन खरीदते/बेचते हैं तो स्टॉक के हिसाब से 3 से 10 गुना तक मार्जिन मिल जाता है लेकिन ऐसे सौदे आपको उसी दिन पूरे करने होते हैं नहीं तो ब्रोकर द्वारा शाम को 3:20 बजे आपके सौदे अपने आप काट दिए जाते हैं
  • Market Order – यदि आप कॉल और पुट ऑप्शन खरीदने और बेचने के लिए मार्केट आर्डर प्लेस करते हैं तो आपका आर्डर तुरंत Execute हो जाता है
  • Limit Order – मार्केट प्राइस में काफी ज्यादा Volatility रहती है लेकिन यदि आप चाहते हैं आपके CE/PE Buy/Sell Order एक निश्चित प्राइस पर एक्सक्यूट हो तो आप Limit Order Place कर सकते हैं मान लेते हैं अभी मार्केट प्राइस 35.3 चल रहा है और आप इसे 33 पर खरीदना चाहते हैं तो आप 33 प्राइस सेट करके लिमिट आर्डर डाल सकते हैं और जब प्राइस 33 आयेगा तो आपका आर्डर अपने आप एक्सक्यूट हो जाएगा
  • Set Stop Loss – वैसे तो आप स्टॉप लॉस आर्डर कंपलीट होने के बाद भी सेट कर सकते हैं यदि चाहे तो इसे Buy order के साथ भी सेट कर सकते हैं
  • Set Target – स्टॉप लॉस की तरह टारगेट भी Buy order के साथ ही सेट कर सकते हैं
  • Swipe to buy – आर्डर से संबंधित सारी चीजें फिल करने के बाद आर्डर कंपलीट करने के लिए स्वाइप करे

ऊपर उदाहरण में बताये अनुसार RELIANCE MAR CE 2160 के 2 लॉट (500 Quantity) 49.15 के प्रीमियम के हिसाब से लिमिट आर्डर पर 500×49.15 = 24575/- रुपये में खरीद लेते हैं

पोजीशन स्क्वायर ऑफ कर मुनाफा बुक करें

मान लेते कुछ समय बाद रिलायंस के शेयर का भाव बढ़कर 2175 हो जाता है और आपके खरीदे गए कॉल ऑप्शन का प्रीमियम 69.5 हो जाता है तो आपको प्रति शेयर 69.5 – 49.15 = 20.35 रुपये के हिसाब से 500×20.35 = 10,175/- रुपये का फायदा हो जाता है और यदि रिलायंस के शेयर का भाव नीचे जाता है तो आपको नुकसान भी हो सकता है

एक्सपायरी डेट से पहले आप खरीदे गए CE/PE Option को कभी भी खरीद बेच सकते हैं और मुनाफा/लॉस बुक कर सकते हैं

ये भी पढ़े

इंट्राडे के लिए शेयर कैसे चुने ?

Swing trading से पैसे कैसे कमाये ? 15 तरीकें

Bonus share और Stock Split में क्या अंतर है ?

#2 Nifty और Banknifty में ज़ेरोधा में ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें ?

इंडेक्स में ऑप्शन ट्रेडिंग निफ़्टी और बैंकनिफ्टी में किया जाता है Nifty में कॉल और पुट के ऑप्शन 50 50 पॉइंट के गैप पर होते हैं और Bannifty में यह गैप 100 100 का पॉइंट का होता है

उदाहरण के लिए मान लेते हैं अभी Nifty 14500 है तो आप 50 50 पॉइंट के अंतर पर इसके कॉल और पुट ऑप्शन खरीद/बेच सकते हैं जैसे NIFTY MAR 14600 CE/PE, NIFTY MAR 14650 CE/PE, NIFTY APR 14750 CE/PE आदि

और Banknifty में यह गैप 100 100 पॉइंट के अंतर पर होता है जैसे BANKNIFTY MAR 35500 CE, BANKNIFTY MAR 35600 CE/PE आदि

Nifty और Nifty Bank के Call और Put ऑप्शन को खरीदने और बेचने का प्रोसेस किसी स्टॉक के ऑप्शन को खरीदने बेचने जैसा ही होता है बस फर्क इतना होता है कि Nifty और Banknifty में मंथली एक्सपायरी के साथ साथ वीकली एक्सपायरी भी होती है

Nifty और Banknifty में Weekly expiry क्या होती है ?

जिस प्रकार स्टॉक्स में कॉल और पुट के ऑप्शन की एक्सपायरी महीनें के अंतिम गुरुवार को होती है उसी प्रकार निफ़्टी और बैंकनिफ़्टी के कॉल और पुट के ऑप्शन की एक्सपायरी महीनें के अंतिम गुरुवार को तो होती ही है लेकिन इसके साथ साथ महीनें में प्रत्येक वीक के गुरुवार को भी होती है जिसे निफ़्टी और बैंक निफ़्टी की वीकली एक्सपायरी कहा जाता है

उदाहरण के लिए मान लेते हैं अभी मार्च है जिसमें चार गुरुवार 4 11 18 और 25 मार्च को आ रहें हैं और निफ्टी 14500 है तो की Nifty Weekly Expiry dates निम्न प्रकार होंगी

NIFTY 4th MAR 14500 CE/PE

NIFTY 11th MAR 14500 CE/PE

NIFTY 18th MAR 14500 CE/PE

NIFTY MAR 14500 CE/PE

महीने के अंतिम गुरुवार वाली वीकली एक्सपायरी में तारीख नहीं होती है इसमें बस महीनें का नाम होता है

एक्सपायरी वाले दिन यदि आपके खरीदे हुए कॉल/पुट ऑप्शन का स्ट्राइक प्राइस संबंधित इंडेक्स से कम होता है तो आपका सारा प्रीमियम जीरो हो जाता है

उदाहरण के लिए अगर आप NIFTY 18th MAR 14500 CE का एक लॉट @20 रुपये पर खरीद लेते हैं और यदि 18 मार्च को निफ़्टी 14500 से कम रहता है तो आपका प्रीमियम 0 हो जायेगा जो कि पहले 20 था जिससे आपका पूरा पैसा (75×20 = 1500 रुपये) डूब जाता है

#3 करेंसी में ज़ेरोधा में ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करे ?

करेंसी USDINR GBPINR आदि के कॉल और पुट में ऑप्शन ट्रेडिंग करने का प्रोसेस Nifty के कॉल और पुट के ऑप्शन में ट्रेड करने जैसा ही है बस थोड़ा सा फर्क होता है जो इस प्रकार है

  1. निफ़्टी में वीकली एक्सपायरी गुरुवार को होती है और करेंसी के ऑप्शन की वीकली एक्सपायरी शुक्रवार को होती है
  2. निफ़्टी के कॉल और पुट ऑप्शन में ट्रेडिंग टाइम सुबह 09:15 से शाम 03:30 तक रहता है लेकिन करेंसी ऑप्शन ट्रेडिंग टाइम सुबह 09:00 से शाम 05:00 बजे तक रहता है
  3. निफ़्टी का लॉट साइज 75 Quantity का होता है निफ़्टी का 1 लॉट खरीदने का मतलब होता है 75 क्वांटिटी खरीदना और 75 के मल्टीप्ल में ही Buy order place किया जाता है जैसे 75 150 225 300 आदि
  4. USDINR का लॉट साइज 1000 का होता है और इसके कॉल और पुट ऑप्शन का एक लॉट खरीदने का मतलब होता है 1000 quantity खरीदना लेकिन इसके Buy order place में 1000 के बजाय 1 लिखना होता है जैसा कि नीचे एक उदाहरण में दिखाया गया है

Zerodha me option trading kaise kare

Conclusion

ज़ेरोधा में ऑप्शन ट्रेडिंग करने के लिए सबसे पहले आपको एफ एंड ओ एक्टिव करना होता है इसके बाद आप किसी भी स्टॉक, इंडेक्स और करेंसी के कॉल और पुट ऑप्शन खरीद-बेच सकते हैं

इस पोस्ट ज़ेरोधा में ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें ? एफ एंड ओ एक्टिंग कैसे करते हैं ? ज़ेरोधा में कॉल और पुट ऑप्शन्स खरीदते-बेचते कैसे हैं ? स्टॉक्स में ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें ? निफ़्टी में ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें ? बैंकनिफ्टी में ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें ? करेंसी USDINR, GBPINR में ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें ? यह सब विस्तार से बताया गया है

आपको हमारी पोस्ट ज़ेरोधा में ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें ? Zerodha Me Option Trading Kaise Kare | How to do Option trading in zerodha in Hindi कैसी लगी कमेंट में जरूर बताएं

2 thoughts on “ज़ेरोधा में ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करें ? Zerodha Me Option Trading Kaise Kare”

Leave a Comment

error: Content is protected !!